Sunday , April 30 2017
Home / Hadis Shareef

Hadis Shareef

अजमेर ब्लास्ट: NIA के ऐसे लिख देने को क्लीन चिट नहीं माना जाएगा- कोर्ट

नई दिल्ली: अजमेर दरगाह विस्फोट मामले में एनआईए ने इंद्रेश कुमार और साध्वी प्रज्ञा को क्लीनचिट दे दी है। लेकिन इस मामले में जयपुर की एनआईए कोर्ट 17 अप्रैल को फैसला लेगी। कोर्ट ने एनआईए के क्लीनचिट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि ऐसे लिख देने से क्लीनचीट नहीं …

Read More »

इस्लाम में महिलाओं का सम्मान किसी अन्य धर्म के मुकाबले कहीं ज्यादा (पार्ट-1)

आमतौर पर लोगों की धारणा यह है कि इस्लाम में महिलाओं को अत्यधिक अत्याचार और शोषण सहना पड़ता है – लेकिन क्या हकीक़त में ऐसा है ? क्या लाखों की तादाद में मुसलमान इतने दमनकारी हैं या फिर ये गलत धारणाएं पक्षपाती मीडिया ने पैदा की हैं ? “और औरतों …

Read More »

अल्लाह की रज़ा और गुस्सा

अल्लाह की रज़ा और गुस्सा

हजरत अब्दुल्लाह बिन उमर रज़ी अल्लाहो तअला अन्हो से रिवायत है के रसूल-ए-पाक सल्लल्लाहो अलैहे वसल्लम ने फ़रमाया, अल्लाह की रज़ा माँ बाप की रज़ा में और अल्लाह का गुस्सा माँ बाप के गुस्से में पोशीदा (छुपा) है। (बुखारी शरीफ)

Read More »

सफा वो मरवा की सई

सफा वो मरवा की सई

हजरत अब्दुल्लाह बिन उमर रज़ी अल्लाहो तआला अन्हों से रिवायत है रसूल-ए-पाक सल्लल्लाहो अलैहे वसल्लम ने फ़रमाया सफा वो मरवा की सई (सफा वो मरवा नमी दोनों पहाड़ों के दरमियान ७ चक्कर) करने का सवाब सत्तर गुलाम आज़ाद करने के बराबर है (तिबरानी)

Read More »

कुरान की तिलावत

कुरान की तिलावत

हजरत अबू अमामा रज़ी अल्लाहो तआला अन्हों से रिवायत है के रसूल-ए-पाक सल्लल्लाहो अलैहे वसल्लम ने फरमाया कुरान पढ़ा करो कियों के कुरान क़यामत के रोज़ अपने पढने वाले की शफाअत करेगा (मुस्लिम)

Read More »

वो आँखें जिनको दोज़ख़ की आग छू नहीं सकती

वो आँखें जिनको दोज़ख़ की आग छू नहीं सकती

हज़रत अबदुल्लाह बिन अब्बास रज़ी अल्लाहो तआला अन्हो से रिवायत है रसूल अल्लाहो सल्लाहो अलैहि वसल्लम ने फ़रमाया दो आँखों को दोज़ख़ की आग छू नहीं सकती, एक वो आँख जो अल्लाह के ख़ौफ़ से रोने वाली है, दूसरी वो आँख जो मुजाहिदीन की हिफ़ाज़त में रात को जागती रहती …

Read More »

हदीस शरीफ़

हदीस शरीफ़

हज़रत काब बिन अजरा रज़ी अल्लाहो तआला अन्हो से रिवायत है रसूल अल्लाहो सल्लाहो अलैहि वसल्लम ने फ़रमाया अपने लिए , अपनी औलाद के लिए , अपने माँ-बाप के लिए कमाना अल्लाह ताला की ख़ुशनुदी का मूजिब है, रिया और बड़ाई ज़ाहिर करने के लिए कमाना शैतान की कमाई है। …

Read More »

गुस्सा पी जाने का इनआम

गुस्सा पी जाने का इनआम

हजरत मआज बिन अनस रज़ी अल्लाहु तआला अन्हो से रिवायत है के रसूल-ए-पाक सल्ललाह अलैहे वसल्लम ने फ़रमाया, जो शख्स कुदरत रखने के बा वजूद गुस्सा पी गया, तो कयामत में अल्लाह उसे इख्तियार देगा के वो जिस हूर को चाहे पसंद करले। (अबू दाऊद)

Read More »

वक़्त पर सदक़ा अदा करने की अहमियत

वक़्त पर सदक़ा अदा करने की अहमियत

हजरत अबू सईद खदरी रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है के, रसूल-ए-पाक (स०) ने फ़रमाया, आदमी अपनी ज़िन्दगी में एक दिरहम सदका करे, उसके लिए उससे बेहतर है के मौत के वक़्त सौ दिरहम सदका करे। (अबू दाऊद)

Read More »

शब-ए-क़दर की इबादत

शब-ए-क़दर की इबादत

हज़रत अबू हुरैरा रज़ी अल्लाहो तआला अन्हा से रिवायत है रसूल-ए-पाक सल्लल्लाह अलैहे वसल्लम ने फ़रमाया जो शब-ए-क़दर में इमान के साथ और सवाब की नियत से इबादत के लिए खड़ा हो उसके तमाम पिछले गुनाह माफ़ कर दिए जाते हैं (बुखारी वो मुस्लिम)

Read More »

मस्जिद की तामीर

मस्जिद की तामीर

हज़रत अनस बिन मालिक रज़ी अल्लाहो तआला अन्हो से रिवायत है रसूल लल्लाहो सल्ललाहो अलैहि वसल्लम ने फ़रमाया जो शख़्स अल्लाह के लिए मस्जिद तामीर करता है तो उस का घर जन्नत में होगा । (तिरमिज़ी शरीफ़ )

Read More »

इफ्तार में जल्दी करना

इफ्तार में जल्दी करना

हजरत अबू हुरैरा रज़ी अल्लाहु तआला अन्हा से रिवायत है के, रसूल-ए-पाक सल्लल्लाह अलैहे वसल्लम ने फ़रमाया, जो बन्दा इफ्तार में जल्दी करता है, वो अल्लाह तआला को बहुत महबूब है। (तिरमिज़ी)

Read More »

ज़िक्रे इलाही का इनआम

ज़िक्रे इलाही का इनआम

हजरत अब्दुल्लाह बिन अब्बास रज़ी अल्लाहु तआला अन्हों से रिवायत है के, रसूल-ए-पाक सल्लल्लाहो अलैहे वसल्लम ने फ़रमाया, कुछ लोग अपने नर्म-ओ-गुदाज़ बिस्तर पर ज़िक्रे इलाही करते हैं, अल्लाह तआला उनको जन्नत के आला दर्जों में दाखिल करेगा (इब्ने हबान)

Read More »

नेक अख्लाक़

नेक अख्लाक़

हजरत मआज़ बिन जबल रज़ी अल्लाहु तआला अन्हों ने सफर पर जाते हुए अरज़ किया, या रसूलल्लाह सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम मुझे कुछ नसीहत फरमाएं! फरमाया, हमेशा नेक अख्लाक़ का पाबन्द रहना। (इब्ने हिबान)

Read More »

कौनसा अमल अफ़ज़ल है

कौनसा अमल अफ़ज़ल है

हज़रत अब्बू हुरैरा रज़ी अल्लाह तआला अन्हा से रिवायत है रसूल अल्लाहो सल्लाह अलैहि वसल्लम से दरयाफ़्त किया गया कौनसा अमल अफ़ज़ल है, फ़रमाया अल्लाह और उस के रसूल पर ईमान लाना, दरयाफ़्त किया गया फिर कौनसा अमल अफ़ज़ल है, फ़रमाया अल्लाह के रास्ते में जिहाद करना, पूछा गया फिर …

Read More »

दिल की गफलत के साथ दुआ कुबूल नहीं होती

दिल की गफलत के साथ दुआ कुबूल नहीं होती

हजरत अबू हुरैरा रज़ी अल्लाहु तआला अन्हा से रिवायत है के रसूल-ए-पाक सल्लल्लाह अलैहे वसल्लम ने फ़रमाया, वो दुआ कुबूल नहीं की जाती, जो दिल की गफलत के साथ की जाती है। (तिरमिज़ी)

Read More »

बाईक रेसिंग में शामिल नौजवानों के ख़िलाफ़ कार्रवाई

हैदराबाद 18 अप्रैल: जुबली हिलस और बंजारा हिलस ट्रैफ़िक पुलिस की एक मुशतर्का कार्रवाई में बाईक रेसिंग में शामिल् नौजवानों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करते हुए 19 मोटर साईकलों और दो कारों को ज़बत कर लिया गया। केबीआर पार्क बंजारा हिलस और जुबली हिलस चैकपोस्ट पर हफ़्ते की शब बीटेक और …

Read More »

वालिदैन कि खिदमत में जिहाद का सवाब

वालिदैन कि खिदमत में जिहाद का सवाब

हजरत अब्दुल्लाह बिन क़ैस रज़ी अल्लाहु तआला अन्हों से रिवायत है के, रसूल-ए-पाक सल्लल्लाह अलैहे वसल्लम कि खिदमत में हाज़िर होकर एक शख्स ने जिहाद कि इजाज़त तलब कि, फ़रमाया ” तेरे माँ बाप ज़िंदा हैं?” उसने अर्ज़ कि हाँ! ज़िंदा हैं,फरमाया उन्ही कि खिदमत में जिहाद का सवाब मौजूद …

Read More »

मुस्कुरा देना भी सदक़ा है

मुस्कुरा देना भी सदक़ा है

हज़रत अबु ज़र गफ्फारी रज़ी अल्लाहु तआला अन्हो से रिवायत है के, रसूल-ए-पाक सल्लल्लाह अलैहि वसल्लम ने फ़रमाया, तेरा अपने भाई के सामने मुस्कुरा देना सदक़ा है, भलाई का हुक्म देना सदक़ा है, और बुराई से रोक देना सदक़ा है, किसी राह भटके को राह दिखाना तेरे लिए सदक़ा है।

Read More »

अज़ान और अकामत के दरमियान दुआ

अज़ान और अकामत के दरमियान दुआ

हजरत अनस रज़ी अल्लाहु तआला अन्हों से रिवायत है कि रसूल-ए-पाक सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम ने फ़रमाया, अज़ान और अकामत के दरमियान दुआ रद नहीं होती बल्कि कुबूल ही हो जाती है। किसी ने पूछा ऐसे मोके पर हम क्या दुआ करें ? फरमाया – अल्लाह तआला से दीन व दुनिया …

Read More »
TOPPOPULARRECENT