Wednesday , August 16 2017
Home / Hadis Shareef (page 10)

Hadis Shareef

नर्म ओ गुदाज़ बिस्तर पर ज़िक्रे इलाही

नर्म ओ गुदाज़ बिस्तर पर ज़िक्रे इलाही

हजरत अब्दुल्लाह बिन अब्बास रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है के, रसूल-ए-पाक (स०) ने फ़रमाया, कुछ लोग अपने नर्म ओ गुदाज़ बिस्तर पर ज़िक्रे इलाही करते हैं,अल्लाह तआला उनको जन्नत के आला दर्जों में दाखिल करेगा। (इब्ने हिब्बान)

Read More »

सुन्नत रक्अतों की पाबंदी

सुन्नत रक्अतों की पाबंदी

हजरत उम्मे हबीबा रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है रसूल-ए-पाक (स०)ने फ़रमाया, जिसने जोहर से पहले चार रक्अतों और उसके बाद चार रक्अतों की पाबंदी की अल्लाह तआला उस पर आग को हराम करदेगा। (अहमद,तिरमिज़ी)

Read More »

दुआ मांगने का अमल अल्लाह तआला को पसंद है

दुआ मांगने का अमल अल्लाह तआला को  पसंद है

हजरत नोमान बिन बशीर रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है के, रसूल-ए-पाक (स०) ने फ़रमाया,दुआ मांगने से बेहतर अल्लाह तआला को कोई और अमल पसंद नहीं। (तिरमिज़ी)

Read More »

दुआ की अहमीयत

दुआ की अहमीयत

हजरत अनस रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है के, रसूल-ए-पाक (स०) ने फ़रमाया, लोगो दुआ करने की हिम्मत ना हारो, दुआ करने की हालत में कोई शख्स हलाक नहीं किया जाता। (इब्न हिब्बान )

Read More »

माँ बाप कि खिदमत में जिहाद का सवाब

माँ बाप कि खिदमत में जिहाद का सवाब

हजरत अब्दुल्लाह बिन क़ैस रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है के, रसूल-ए-पाक (स०) कि खिदमत में हाज़िर होकर एक शख्स ने जिहाद कि इजाज़त तलब कि, फ़रमाया '' तेरे माँ बाप ज़िंदा हैं ?'' उसने अर्ज़ कि हाँ !

Read More »

मस्जिद में जमाअत कि फजी़लत

मस्जिद में जमाअत कि फजी़लत

हजरत अबू हुरैरा रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है, रसूल-ए-पाक (स०)ने फ़रमाया, मस्जिद में जमाअत के लिए जाने वाले का हर कदम एक नेकी को वाजिब करता है,और एक गुनाह को मिटाता है। (इब्न हिबान)

Read More »

मां बाप की फरमाबरदारी

मां बाप की फरमाबरदारी

हज़रत मआज़ रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है के रसूल-ए-पाक (स०) ने मां बाप के फरमाबरदार के लिए फ़रमाया, मां बाप के फरमाबरदार को मुबारक हो, अल्लाह तआला उस्की उम्र जियादा करे। (हाकिम)

Read More »

अफज़ल इस्लाम कौनसा है?

अफज़ल इस्लाम कौनसा है?

हजरत अब्दुल्लाह बिन उमर रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है रसूल-ए-पाक (स०) से पूछा गया बेहतर और अफज़ल इस्लाम कौनसा है? इरशाद फरमाया, मसाकीन को खान खिलाना, जाने अनजाने हर मुसलमान को सलाम करना। (बुखारी मुस्लिम)

Read More »

तकसीम-ए-रिजक

तकसीम-ए-रिजक

खातून-ए- जन्नत हजरत सय्यदह फातिमा ज़हरा रज़ी अल्लाहु तआला अनहा से रिवायत है रसूल-ए-पाक (स०) ने फ़रमाया अल्लाह तआला सुबह सादिक से लेकर तुलू-ए-आफताब तक अपने बन्दों को रिजक तकसीम करता है। (बेहकी)

Read More »

अल्लाह का खौफ

अल्लाह का खौफ

हजरत अब्दुल्लाह बिन मासउद रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है के, रसूल-ए-पाक (स०) ने फ़रमाया, जो बन्दा अल्लाह के खौफ से रोया और उसका आंसू मुंह पर बह आया है, चाहे वो कितना ही छोटा हो ,उस पर दौज़ख की आग हराम होजाती है। (इब्ने माजा)

Read More »

कुरआन की फज़ीलत

कुरआन की फज़ीलत

हजरत उस्मान रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है के, रसूल-ए-पाक (स०) फरमाया, तुम में बेहतरीन शख्स वो है जो कुरआन सीखा और दूसरों को सिखाया। (बुखारी शरीफ)

Read More »

मस्जिद में नमाज़ पढ़ने की फज़ीलत

मस्जिद में नमाज़ पढ़ने की फज़ीलत

हजरत उस्मान बिन अफ्फान रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है के रसूल-ए-पाक (स०) ने फ़रमाया जिसने पूरा पूरा वजू किया, और फ़र्ज़ नमाज़ पढने को घर से निकला, और मस्जिद में जा कर इमाम के साथ नमाज़ पढ़ी, तो उसके तमाम गुनाह माफ़ होगए। (इब्न खजीमा)

Read More »

मां बाप की खिदमत

मां बाप की खिदमत

हजरत अबू हुरैरा रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है के रसूल-ए-पाक (स०)ने तीन मर्तबा फ़रमाया, नाक ख़ाक आलूद हो उसकी, जिसने बूढ़े माँ बाप पाए और फिर जन्नत हासिल करने में कोताही की।( बुखारी व मुस्लिम)

Read More »

हाजतमंदो की मदद

हाजतमंदो की मदद

हजरत अबू मूसा अशअरी रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है के रसूल-ए-पाक (स०) के पास कोई साएल या हाजतमंद आता तो हुजूर (स०) अपने सहाबा से फरमाते ‘उसकी मदद करो और उसकी शिफारिश करो ताके तुम्हें शिफारिश का सवाब मिले। (बुखारी शरीफ)

Read More »

दरूद शरीफ की फजीलत

दरूद शरीफ की फजीलत

हजरत अबू हुरैरा रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है के, रसूल-ए-पाक (स०) ने फ़रमाया, जो शख्स मुझ पर एक मरतबा दरूद पढ़े, अल्लाह तआला उसपर दस मरतबा रहमत भेजता है। (अबू दाऊद )

Read More »

रात की नमाज़

रात की नमाज़

हजरत अबू हुरैरा रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है के, रसूल-ए-पाक (स०) ने फ़रमाया, फ़र्ज़ नमाज़ के बाद रात की नमाज़, तमाम नमाज़ों से अफ़ज़ल है। (मुस्लिम)

Read More »

ज़ुबान और शर्मगाह की हिफाज़त

ज़ुबान और शर्मगाह की हिफाज़त

हजरत अबू हुरैरा रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है के रसूल-ए-पाक (स०) ने फ़रमाया, जिस बंदा को अल्लाह तआला ने ज़ुबान और शर्मगाह के गुनाह से महफूज़ कर लिया वो जन्नत में जाए गा। (बुखारी व मुस्लिम)

Read More »

सलाम करने की फ़जीलत

सलाम करने की फ़जीलत

हजरत अबू दरदा रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है के, रसूल-ए-पाक (स०)ने फरमाया, ऐ लोगो सलाम कसरत से किया करो इससे तुम दुनियां में सर बलंद हो जाओगे। (तिबरानी)

Read More »

अल्लाह तआला से ना मांगने पर नाराज़गी

अल्लाह तआला से ना मांगने पर नाराज़गी

हजरत अबू हुरैरा रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है के, रसूल-ए-पाक (स०) ने फ़रमाया, जो अल्लाह तआला से ना मांगे तो अल्लाह तआला उससे नाराज़ होता है। (तिर्मिज़ी)

Read More »
TOPPOPULARRECENT