Friday , August 18 2017
Home / Crime / अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन के साथ जेल में बदसलूकी

अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन के साथ जेल में बदसलूकी

बाली. इंडोनेशिया के बाली की जेल में बंद छोटा राजन ने दाऊद गैंग से अपनी जान को खतरा बताया है. छोटा राजन ने हुकूमत ए हिंद और इंडोनेशिया पुलिस को एक खत लिखा है , जिसमें उसने कहा है कि उसे यहां ठीक से इलाज भी नहीं मिल रहा है और हिंदुस्तान जाना चाहता है.छोटा राजन को दूसरी सेल में शिफ्ट किया गया है.

इससे पहले वह जिस सेल में रखा गया था वहां पर साथियों से की गई बदसलूकी के बाद पुलिस ने उसको दूसरी सेल में शिफ्ट किया है. ज़राये के मुताबिक बीती रात उसकी सेल में मौजूद दूसरे साथियों से हाथापाई हो गई थी, जिसके बाद यह फैसला लिया गया. छाेटा राजन को डेनपासर पुलिस स्टेशन में रखा गया है.

छाेटा राजन को हिंदुस्तान लाने की कोशिशों के बीच इंडोनेशिया में हिंदुस्तान के सफीर गुरजीत सिंह ने कहा है कि उसको हिंदुस्तान ले जाने का फैसला हुकूमत ए हिंद को लेना है. हालांकि उन्होंने माना कि दोनों मुल्क के बीच फोरमल एक्सट्रेडिशन ट्रीटी पर हिंदुस्तान के नायब सदर जम्हूरिया हामिद अंसारी के यहां आने पर दस्तखत किए गए थे, लेकिन इस पर काम कब पूरा होता है इसका अभी कोई पता नहीं है.

उसकी गिरफ्तारी को लेकर यह भी बात सामने आ रही है कि इस गिरफ्तारी के पीछे दाऊद इब्राहिम का हाथ है.राजन को गुजश्ता इतवार (25 अक्टूबर 2015) को उस वक्त पक़़डा जब वह ऑस्ट्रेलिया के सिडनी शहर से बाली के एक मशहूर रिसॉर्ट में ऐशो आराम के लिए आया था. यह बात उसने इब्तिदायी पूछताछ में बताई. मुंबई के मराठा खानदान में पैदा हुए 55 साला छोटा राजन का असली नाम राजेंद्र सदाशिव निखलजे है. जबकि उसका दूसरा नाम मोहन कुमार है. उसके खिलाफ 1995 में इंटरपोल ने रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया था.

राजन से बाली की दारुल हुकूमत डेनपासर वाके पुलिस हेडक्वार्टर में पूछताछ की जा रही है. राजन के पास मोहन कुमार के नाम का हिंदुस्तानी पासपोर्ट मिला है. राजन ने बताया कि वह पिछले सात साल से ऑस्ट्रेलिया में रह रहा था. ऑस्ट्रेफाक़ी पुलिस ने पिछले माह तस्दीक की थी कि छोटा राजन उनके मुल्क में गलत नाम से रह रहा है.

इधर, बाली पुलिस ने उससे 6 घंटे पूछताछ की है. पुलिस का यह भी कहना है कि छोटा राजन की सेहत ठीक है. एक तरफ अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन को हिंदुस्तान लाने की तैयारी चल रही है, वहीं दूसरी तरफ यह सवाल भी चल रहा है कि छोटा राजन आख़िर बाली में गिरफ़्तार कैसे हुआ. छोटा राजन ने दावा किया कि उसने सरेंडर नहीं किया है हालांकि उसने कहा कि वह हिंदुस्तान आना चाहता है.

TOPPOPULARRECENT