Tuesday , September 26 2017
Home / India / अंतरजातीय विवाह ने दलितों के खिलाफ गुस्सा पैदा किया

अंतरजातीय विवाह ने दलितों के खिलाफ गुस्सा पैदा किया

एक उच्च जाती की लड़की ‘वीना’,19 और नीची जाती के लड़के ‘चेतन नायक’,25 की होन्नल्ली के रजिस्ट्रार कार्यालय में शादी की खबर के बाद दावनगेरे तालुक के दलित परिवारों ने दुर्व्यवहार और शारीरिक हमले का आरोप लगाया है।

जोड़े ने समुदायों के डर से , एक साल पहले रजिस्ट्रार के दफ्तर में शादी कर ली थी परन्तु उनकी शादी की खबर लोगो के सामने तीन दिन पहले आयी जब अचानक से चेतन और वीना दोनों गायब हो गए ।

वीना के माता पिता और रिश्तेदारों ने कथित रूप से चेतन के पिता रवि कुमार पर शनिवार को हमला किया और उन्हें घायल कर दिया। उन्होंने कथित तौर पर दलितों की चेतावनी दी कि वे गांव के दलित परिवारों के बच्चों को स्कूल जाने, दूध खरीदने, बसों में यात्रा करने और कुओं से पानी एकत्र करने की अनुमति नहीं देंगे।

द हिंदू से बात करते हुए, कुमार ने कहा: “शनिवार की रात को जब मैं एक ढाबे से खाना लाने के लिए बाहर गया था तब युवाओं के एक समूह ने मेरा हल्द्वारी गांव के पास पीछा किया और मुझ पर हमला कर दिया। उन्होंने मुझे चेतावनी दी की अगर, वीना तुरंत घर नहीं पहुंची तो उसके दुर्भागयापर्ण परिणाम होंगे।”

कुमार ने कहा कि, युवाओ के समूह ने उन्हें एक कमरे में बंद कर दिया था जिसमे वे 2 घंटे तक फंसे रहे, जब तक वहां पुलिस नहीं पहुंची थी ।

दावनगेरे के पुलिस अधीक्षक भीमशंकर गुलद ने संवाददाता को बताया कि एक मामला दर्ज कर लिया गया है और एक व्यक्ति श्रीधर को गिरफ्तार भी कर लिया गया है। हालांकि, उन्होंने कहा कि ग्रामीणों द्वारा दलितों पर कोई प्रतिबंध नहीं लगाया गया है और स्थिति नियंत्रण में है।

उन्होंने कहा, जोड़ा अभी भी लापता है ।

TOPPOPULARRECENT