Friday , October 20 2017
Home / Sports / अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने यूसेन बोल्ट से छिना गोल्ड मेडल

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने यूसेन बोल्ट से छिना गोल्ड मेडल

दुनिया के सबसे तेज़ एथलीट जमैका के यूसेन बोल्ट को अपने एक ओलंपिक गोल्ड मेडल से हाथ धोना पड़ा है। बोल्ट के नाम ओलंपिक के नौ गोल्ड मेडल हैं। अब ये संख्या घटकर आठ रह जाएगी। और ऐसा बोल्ट की ग़लती से नहीं बल्कि एक उनके एक साथी एथलीट की ग़लती से हुआ है जिसे प्रतिबंधित दवा लेने का दोषी पाया गया है। 2008 के बीजिंग ओलंपिक में रिले रेस में बोल्ट के साथ हिस्सा लेनेवाले चार एथलीटों में से एक नेस्टा कार्टर को एक टेस्ट में पॉज़िटिव पाया गया। 

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने कहा कि कार्टर के शरीर में मिथाइलहेक्सैनियामाइन नाम की ताक़त बढ़ानेवाली दवा पाई गई जिस पर प्रतिबंध है। आईओसी ने इसके साथ ही जमैका का स्वर्ण पदक वापस लिए जाने का भी एलान किया। इसके साथ ही बीजिंग में तीन गोल्ड मेडल जीतने वाले बोल्ट का एक गोल्ड मेडल भी उनसे छिन गया। फ़ैसले के बाद बोल्ट लगातार तीन ओलंपिक खेलों में तीन-तीन गोल्ड मेडल जीतनेवाले पहले एथलीट भी नहीं रहे।

30 वर्षीय बोल्ट ने पिछले साल रियो में 2008 और 2012 के बाद लगातार तीसरी बार 100 मीटर, 200 मीटर और 4×100 रिले रेस में गोल्ड जीता था। 31 वर्षीय नेस्टा कार्टर 2012 के लंदन ओलंपिक में भी रिले रेस का स्वर्ण जीतनेवाली जमैका की टीम में शामिल थे। उन्होंने 2011, 2013 और 2015 के वर्ल्ड चैंपियनशिप में भी जमैका को जीत दिलाई थी। आईओसी के फ़ैसले के बाद बीजिंग ओलंपिक का रिले रेस का स्वर्ण अब त्रिनिडाड एंड टोबैगो को दे दिया गया है।

TOPPOPULARRECENT