Tuesday , October 24 2017
Home / Business / अंबानी हुकूमत नहीं चलाते: मर्कज़ी वज़ीर

अंबानी हुकूमत नहीं चलाते: मर्कज़ी वज़ीर

आम आदमी पार्टी के इस इल्ज़ाम की मुज़म्मत करते हुए कि मुकेश अंबानी यू पी ए हुकूमत चला रहे हैं, मर्कज़ी वज़ीर फ़ीनांस पी चिदम़्बरम ने आज कहा कि रिलाइंस इंडस्ट्रीज़ पर यकीन‌ से कम गैस की पैदावार की बिना पर ज़बर्दस्त जुर्माने आइद किए गए हैं

आम आदमी पार्टी के इस इल्ज़ाम की मुज़म्मत करते हुए कि मुकेश अंबानी यू पी ए हुकूमत चला रहे हैं, मर्कज़ी वज़ीर फ़ीनांस पी चिदम़्बरम ने आज कहा कि रिलाइंस इंडस्ट्रीज़ पर यकीन‌ से कम गैस की पैदावार की बिना पर ज़बर्दस्त जुर्माने आइद किए गए हैं और बैंक ज़मानत ज़बत करली जाएगी।

इसके बाद ही क़ीमत में किसी इज़ाफ़ा की इजाज़त दी जा सकती है। चिदम़्बरम ने जो तमाम अंदरून-ए-मुल्क क़ुदरती गैस पैदा कुनुन्दगान रिलाइंस इंडस्ट्रीज़ को क़ुदरती गैस की क़ीमत में अप्रेल से तक़रीबन दोगुने इज़ाफ़ा की इजाज़त देने का फ़ैसला करचुके हैं, उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी हुकूमत ने मर्कज़ी वज़ीर तेल एम वीरप्पा मोईली और दीगर के ख़िलाफ़ गैस की क़ीमतों में इज़ाफ़ा की जो शिकायत पुलिस में दर्ज करवाई है मज़हकाख़ेज़ है।

उन्होंने कहा कि ये तमाम बातें सड़क पर फेंक दिए जाने के काबिल हैं इनका जवाब देने की ज़रूरत नहीं। वो एक इंटरव्यू दे रहे थे। इस सवाल पर कि केजरीवाल की जानिब से इस इल्ज़ाम पर कि अंबानी हुकूमत चला रहे हैं इन का क्या रद्द-ए-अमल है। मर्कज़ी वज़ीर फ़ीनांस ने कहा कि वज़ारत पैट्रोलियम ने रिलाइंस पर ज़बर्दस्त जुर्माना आइद किया है।

वज़ारत ने उनसे बैंक ग्यारंटी तलब की है ताकि वो गैस की जो मिक़दार सरबराह नहीं करसके उसकी क़ीमत में इज़ाफ़ा की इजाज़त उस वक़्त तक नहीं दी जाएगी जब कि वो कम सरबराह की हुई गैस की तकमील नहीं करेंगे, फिर कोई भी ये कैसे कह सकता है कि हुकूमत कोई ताजिर चला रहा है। उन्होंने कहा कि गुजिश्ता तीन साल के दौरान हुकूमत ने रिलाइंस पर क़ुदरती गैस की पैदावार के सिलसिला में एक अरब 80 लाख अमेरिकी डालर मालियती जुर्माने आइद किए हैं।

कंपनी से ख़ाहिश की गई है कि क़ीमत में इज़ाफ़ा के मुसावी बैंक ज़मानत फ़राहम की जाये इसके बाद ही एक‌ अप्रेल से क़ीमत में इज़ाफ़ा की इजाज़त दी जाएगी। अगर रिलाइंस पानी और रेत के इलावा ज़ख़ाइर आब के दबाव‌ में इन्हितात की वजह बने तो बैंक की ज़मानत की रक़म हुकूमत हासिल करलेगी। चिदम़्बरम ने कहा कि मोईली कह चुके हैं काबीना के फ़ैसला पर एक‌ अप्रेल से अमल आवरी होगी। यही हुकूमत का मौक़िफ़ है और उनके ख़्याल में मोईली का इक़दाम बिलकुल दरुस्त है।

TOPPOPULARRECENT