Friday , October 20 2017
Home / Hyderabad News / अक़लीयतों की तरक़्क़ी में डाक्टर राज शेखर रेड्डी का बेमिसाल किरदार

अक़लीयतों की तरक़्क़ी में डाक्टर राज शेखर रेड्डी का बेमिसाल किरदार

वाई ऐस आर कांग्रेस पार्टी एज़ाज़ी सदर (अध्यक्ष) मिसिज़ वजया अम्मां ने कहा कि अक़लीयतों की तरक़्क़ी की जो फ़िक्र डाक्टर राज शेखर रेड्डी को थी, वो किसी और चीफ़ मिनिस्टर में नहीं देखी गई। जगन मोहन रेड्डी कभी सेकरीटरीयट और कैंप ऑफ़िस

वाई ऐस आर कांग्रेस पार्टी एज़ाज़ी सदर (अध्यक्ष) मिसिज़ वजया अम्मां ने कहा कि अक़लीयतों की तरक़्क़ी की जो फ़िक्र डाक्टर राज शेखर रेड्डी को थी, वो किसी और चीफ़ मिनिस्टर में नहीं देखी गई। जगन मोहन रेड्डी कभी सेकरीटरीयट और कैंप ऑफ़िस नहीं गए, ना कभी वुज़रा (मंत्री) से बातचीत की और ना ही ओहदा दारों से मुलाक़ात की, फिर क्यों जगन को गिरफ़्तार किया गया?।

असमबली हलक़ा राय चोटी के अवाम से भाषण देते हुए उन्हों ने कहा कि आज़ादी के बाद से रियासत में अक़लीयतों की तरक़्क़ीका जायज़ा लिया जाय तो डाक्टर राज शेखर रेड्डी का दौर अक़लीयतों के हक़ में सब से अच्छा साबित होगा, जिस की माज़ी में कोई नज़ीर(मिसाल) नहीं मिलती। इलावा अज़ीं (इसके इलावा)समाज के तमाम तबक़ात के लिए उन्हों ने कोई ना कोई स्कीम ज़रूर फ़राहम की, जो नाक़ाबिल फ़रामोश है।

उन्हों ने कहा कि मैं डाक्टर राज शेखर रेड्डी के दौर-ए-हकूमत को बहुत क़रीब से देखा है, अवाम की जो मुहब्बत उन्हें हासिल थी, अब वही मुहब्बत जगन को भी मिल रही है। मेरा बेटा बेक़सूर है, ज़िमनी इंतिख़ाबात में एक दो नशिस्तों पर कामयाबी हासिल करने की ग़रज़ से मेरे बेटे को जेल में रखा गया है, लेकिन मुझे उम्मीद है कि अवाम इन साज़िशों को नाकाम बना देंगे और 12 जून को वाई ऐस आर कांग्रेस के हक़ में वोट देते हुए जगन के बेक़सूर होने का फ़ैसला सुनएंगे।

उन्हों ने कहा कि जगन ने सिर्फ मुलाक़ात की ग़रज़ से पुर्सा यात्रा मुनज़्ज़म किया था, जो कांग्रेस को पसंद नहीं आया, इसी लिए जगन को अवाम के दरमयान से हटाकर जेल भेज दिया गया। मुलक की अदालतों में 170 अरकान पार्लीमान के ख़िलाफ़ मुक़द्दमात दर्ज हैं, मगर उन्हें गिरफ़्तार नहीं किया गया। बोफोर्स मुआमले में राजीव गांधी और सोनीया गांधी भी मुलव्वस(शामिल) थीं, ना ही उन्हें गिरफ़्तार किया गया और ना ही उन के घरों की तलाशी ली गई।

इसी तरह महाराष्ट्रा के साबिक़ (पूर्व) चीफ़ मिनिस्टर अशोक चौहान, सदर (अध्यक्ष) प्रदेश कांग्रेस कमेटी बी सत्य ना रायना, क़ाइद अप्पोज़ीशन चंद्रा बाबू नायडू के इलावा कई वुज़रा (मंत्री) पर भी बदउनवानीयों (करप्शन) के इल्ज़ामात हैं, मगर किसी को गिरफ़्तार नहीं किया गया। इंतिहा ये कि बदउनवानीयों (करप्शन) के इल्ज़ामात का सामना करने वाले रोशिया को चीफ़ मिनिस्टर के ओहदा से हटाकर गवर्नर बना दिया गया।

उन्हों ने बताया कि जगन की गिरफ़्तारी की वजह दरयाफ़त करने पर उन्हें, उन की बहू और बेटी के इलावा ख़ानदान के दीगर अफ़राद को पुलिस ने हरासाँ किया। इंतिख़ाबी मुहिम चलाने पर हमारी गाड़ीयों और कपड़ों के सूटकेस की तलाशी ली जा रही है। उन्हों ने मिसाल दी कि गेंद को जितनी ताक़त से उछाला जाएगा, वो उतनी ही बुलंदी तक जाएगा, आज जगन इसी मरहले से गुज़र रहे हैं।

वो बहुत जल्द अवाम के दरमयान होंगे और अपने वालिद के अधूरे ख़ाबों की तकमील करेंगे। उन्हें डाक्टर राज शेखर रेड्डी की मौत पर शक है, इस शक को दूर करने की बजाय कांग्रेस पार्टी राज शेखर रेड्डी के कत्ल का इल्ज़ाम मुझ पर और मेरे बेटे पर आइद कर रही है। उन्हों ने बताया कि राज शेखर रेड्डी दौर-ए-हकूमत में जिन इसकीमात का ऐलान किया गया था, एक एक करके उन्हें ख़तम किया जा रहा है। वाई ऐस आर कांग्रेस पार्टी उम्मीदवारों की कामयाबी, कांग्रेस की साज़िशों का जवाब होगा।

TOPPOPULARRECENT