Friday , October 20 2017
Home / Hyderabad News / अक़ल्लीयती उमूर पर पी एस‌ कमेटी की तशकील के लिए वज़ीर-ए-आज़म से नुमाइंदगी

अक़ल्लीयती उमूर पर पी एस‌ कमेटी की तशकील के लिए वज़ीर-ए-आज़म से नुमाइंदगी

हैदराबाद 25 मई (सियासत न्यूज़) ग्यारहवीं पंच साला मंसूबा में अक़ल्लीयतों केलिए मुख़तस करदा बजट नाकाफ़ी रहा और इस में भी सिर्फ 62 फ़ीसद ख़र्च किया गया। जनाब सय्यद अज़ीज़ पाशाह साबिक़ रुकन राज्य सभा ने मुस्लिम अरकान-ए-पार्लीमैंट के ह

हैदराबाद 25 मई (सियासत न्यूज़) ग्यारहवीं पंच साला मंसूबा में अक़ल्लीयतों केलिए मुख़तस करदा बजट नाकाफ़ी रहा और इस में भी सिर्फ 62 फ़ीसद ख़र्च किया गया। जनाब सय्यद अज़ीज़ पाशाह साबिक़ रुकन राज्य सभा ने मुस्लिम अरकान-ए-पार्लीमैंट के हमराह वज़ीर-ए-आज़म डाक्टर मनमोहन सिंह से मुलाक़ात के दौरान इस बात से वज़ीर-ए-आज़मको वाक़िफ़ करवाया। उन्हों ने वज़ीर-ए-आज़म डाक्टर मनमोहन सिंह को बताया कि ग्यारहवीं पंच साला मंसूबा के तहत अक़ल्लीयतों के लिए मुख़तस करदा बजट सिर्फ़ 0.06फ़ीसद था।

जिस में से सिर्फ 0.04 फ़ीसद ख़र्च किया गया जोकि मजमूई एतबार से 62फ़ीसद होता ही। उन्हों ने दोटूक अंदाज़ में नुमाइंदगी करते हुए वज़ीर-ए-आज़म से ख़ाहिशकी कि बारहवीं पंच साला मंसूबा में अक़ल्लीयतों के लिए मुख़तस बजट को कम अज़ कम पाँच फ़ीसद तक इज़ाफ़ा करें ताकि अक़ल्लीयतों की तरक़्क़ी, फ़लाह-ओ-बहबूद को यक़ीनीबनाया जा सकी।

उन्हों ने वज़ीर-ए-आज़म से मुलाक़ात के दौरान बताया कि 15 नकाती प्रोग्राम पर अदम अमल आवरी के सबब अक़ल्लीयतें फ़लाह-ओ-बहबूद और तरक़्क़ीयाती इक़दामात से महरूम होरही हैं। 15 नकाती प्रोग्राम पर अमल आवरी का जायज़ा लेने केलिए ये ज़रूरी है कि ज़िला वारी असास पर इजलासों के इलावा मंडल और वार्ड की सतह पर भी सदूर नशीन नामज़द करते हुए जायज़ा इजलास मुनाक़िद किए जाएं ताकि 15 नकाती प्रोग्राम पर बेहतर अमल आवरी को यक़ीनी बनाया जा सकी।

जनाब सय्यद अज़ीज़ पाशाह ने वज़ीर-ए-आज़म से मुलाक़ात के दौरान हुई गुफ़्तगु के मुताल्लिक़ वाक़िफ़ करवाते हुए बताया कि अक़ल्लीयती उमोर पर पारलीमानी असटानडनग कमेटी की तशकील केलिए भी मुस्लिम अरकान पार्लीमान ने डाक्टर मनमोहन सिंह से नुमाइंदगी की।

वज़ीर-ए-आज़म से नुमाइंदगी करने वाले वफ़द में जनाब बदर उद्दीन अजमल, जनाब अज़हर-उद-दीन, जनाबशफ़ीक़ अलरहमन बर्क़ के इलावा दीगर मुस्लिम अरकान पार्लीमान मौजूद थी। वज़ीर-ए-आज़म ने डाक्टर फ़ारूक़ अबदुल्लाह और मिस्टर ग़ुलाम नबी आज़ाद की मौजूदगी में मुस्लिम अरकान पार्लीमान से तबादला-ए-ख़्याल करते हुए मसाइल का जायज़ा लिया। सयासी वाबस्तगियों से बालातर होकर मुलाक़ात करने वाले अरकान पार्लीमान ने वज़ीर-ए-आज़म से ख़ाहिश की कि वो अक़ल्लीयतों की तरक़्क़ी के लिए बारहवीं मंसूबा बंदी कमीशन में ख़ुसूसी मुराआत फ़राहम करने के इक़दामात करे चूँकि अक़ल्लीयतों की हक़ीक़ी सूरत-ए-हाल सच्चर कमेटी और रंगनाथ मिश्रा कमीशन की रिपोर्टस से मंज़र-ए-आम पर आ चुकी हैं।

जनाब अज़ीज़ पाशाह ने बताया कि इस मुलाक़ात के दौरान वज़ीर-ए-आज़म ने इस बात का तीक़न दिया कि बारहवीं पंच साला मंसूबा के तहत अक़ल्लीयतों को मुनासिब बजट की फ़राहमी पर संजीदगी से ग़ौर किया जाएगा। तख़सीस किए गए बजट को अक़ल्लीयतों पर ख़र्च करने के मुताल्लिक़ भी वक़तन फ़वक़तन रिपोर्टस का जायज़ा लिया जाएगा ताकि अक़ल्लीयतों की तरक़्क़ी को यक़ीनी बनाने के इक़दामात का सिलसिला जारी रहे

TOPPOPULARRECENT