Sunday , October 22 2017
Home / Khaas Khabar / अक़ीदत या ख़ुदकुशी? उबलती देग़ में छलांग लगाने वाली माँ बेटी फौत

अक़ीदत या ख़ुदकुशी? उबलती देग़ में छलांग लगाने वाली माँ बेटी फौत

अजमेर 21 जनवरी- अजमेर शरीफ में वाके ख़्वाजा मुईनुद्दीन चिशती (र)की दरगाह में उबलती हुई देग़ में छलांग लगाने वाली माँ बेटी हलाक होगईं हैं। रियासत केरला से ताल्लुक़ रखने वाली ये दोनों ख़वातीन जुमेरात को दरगाह में रखी देग़ में कूद गई थ

अजमेर 21 जनवरी- अजमेर शरीफ में वाके ख़्वाजा मुईनुद्दीन चिशती (र)की दरगाह में उबलती हुई देग़ में छलांग लगाने वाली माँ बेटी हलाक होगईं हैं। रियासत केरला से ताल्लुक़ रखने वाली ये दोनों ख़वातीन जुमेरात को दरगाह में रखी देग़ में कूद गई थी। चूँकि देग़ में खाना पक रहा था इस लिए ये दोनों ख़वातीन 80 फ़ीसद झुलस गई थीं। इत्तिलाआत के मुताबिक़ पहले बेटी सरीना इस देग़ में कूदी और फिर उन की माँ सलफ़जा भी देग़ में कूद गईं।

दोनों को शदीद ज़ख़मी हालात में हस्पताल में दाख़िल कराया गया था। पुलिस के लिए सब से बड़ी दिक़्क़त ये थी कि ये दोनों मलयालम ज़बान बोलती थी इस लिए उन से ये मालूम नहीं होसका कि ये महज़ अक़ीदत का मुआमला था या फिर ख़ुदकुशी।

दरगाह के इलाक़े के थाने के एक सीनयर पुलिस अहलकार अनिल सिंह ने बताया है कि ये एक हादिसा था या उन लोगों ने जानबूझ कर उबलती हुई देग़ में छलांग लगाई थी। पुलिस ने इन दोनों ख़वातीन से बात करने के लिए एक मलायालम ज़बान वाले शख़्स से उन की बात कराई लेकिन तब ये दोनों ख़वातीन ज़्यादा बात करने की हालत में नहीं थीं।

पुलिस का कहना है कि दोनों ख़वातीन गुज़श्ता तक़रीबन एक माह से अजमेर में थीं और दरगाह आती जाती थीं। पुलिस ने इस ख़ातून सलफ़जा के बेटे को इत्तिला दे दी है। वो दुबई में रहते हैं। पुलिस का कहना है कि वो जल्द ही अजमेर पहुंचने वाले हैं। पुलिस ने कहा है कि मज़कूरा ख़ातून की मआशी हालत ठीक नहीं थी।
पुलिस के मुताबिक़ मुआमले की तफ़तीश जारी है और वो ये पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि कहीं उन ख़वातीन ने ख़ुदकुशी तो नहीं की। (ऐजेंसी)

TOPPOPULARRECENT