Monday , September 25 2017
Home / India / अखिलेश यादव ने नोटबंदी से हुई मौतों पर दिया पहला मुआवजा, रजिया के परिवार को मिले 5 लाख

अखिलेश यादव ने नोटबंदी से हुई मौतों पर दिया पहला मुआवजा, रजिया के परिवार को मिले 5 लाख

PC: Amar Ujala

लखनऊ। हाल ही में अलीगढ़ में नोटबंदी के बाद पैसों कि किल्लतों से परेशान हो कर रजिया के आत्मदाह के मामले में में यूपी सरकार ने 5 लाख के मुआवज़े का ऐलान किया है। ये पहला मामला है जब इस तरह की मौत पर किसी को मुआवजा दिया गया हो।

यूपी सीएम के ऑफिशियल ट्वीट से इसकी जानकारी दी गई है। इसमें लिखा गया है- अलीगढ़ की श्रीमती रज़िया के निधन पर दुःख व्यक्त करते हुए उनके परिजन को मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से 5 लाख रुपये की मदद दी जा रही है। सीएम ऑफिस ने प्रदेश में नोटबंदी के फलस्वरूप बैंकों एवं एटीएम की कतार में नोट बदलवाने में लगे लोगों की मौतों पर दुःख भी जताया है।

पिछले दिनों अलीगढ़ में नोटबंदी के बाद पुराने नोट नहीं बदलवा पाने से तंग आकर रजिया ने आत्मदाह कर लिया था। रजिया पुराने नोट बदलवाने के लिए तीन दिन से बैंक की लाइन में लग रही थी। वहीं घर में चार मासूमों का पेट भरने के लिए भी राशन नहीं बचा था।बच्चों को भूख से तड़पता देख कर महिला रजिया हिम्मत हार गई और खुद को आग के हवाले कर दिया। इलाज के दौरान रविवार को महिला की मौत हो गई।

बता दें कि नोटबंदी का आज 29वां दिन है। बैंकों और एटीएम के बाहर लाइनें कम जरूर हुई है लेकिन हालात नहीं बदले हैं। मीडिया की रिपोर्ट की माने तो नोटबंदी की वजह से मौतों का आकड़ा बढ़ता ही जा रहा है, आए दिन किसी न किसी की मौत की खबर आ रही है। विपक्ष की तरफ से ऐसे लोगों को मुआवजा देने की मांग भी लगातार की जा रही है। ऐसे में अखिलेश सरकार ने नोटबंदी से मौत पर मुआवजा देकर केंद्र को असहज कर दिया है।

केंद्र सरकार के मंत्री वैंकया नायडू से जब इन मौतों के बारे में सवाल किया गया तो उनका जवाब काफी असवेंदनशील था। नायडू ने कहा था कि जहांं तक लोगों को हो रही परेशानियों का सवाल है, किसी बच्चे को पैदा करना आसान नहीं है। लेकिन एक बार जब बच्चे की पैदाइश हो जाती है, तब मां की खुशी का ठिकाना नहीं होता।

TOPPOPULARRECENT