Tuesday , May 23 2017
Home / Khaas Khabar / ‘अगर किसी ने गाय का मांस खाया है तो उसे दोषी नहीं कहा जा सकता है’

‘अगर किसी ने गाय का मांस खाया है तो उसे दोषी नहीं कहा जा सकता है’

राकांपा प्रमुख और वरिष्ठ नेता शरद पवार ने मंगलवार को गोरक्षा के नाम पर हो रही हत्याओं पर जमकर हमला बोला है। शरद पवार ने कहा कि पूरे देश में गोहत्या पर प्रतिबंध लगाना सही ठीक नहीं है। राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के वीर सावरकर का हवाला देते हुए कहा कि गौमांस का सेवन करना कोई अपराध नहीं है।

पवार ने अपनी आत्मकथा ‘अपनी शर्तों पर’ के विमोचन के दौरान कहा कि वीर सेनानी सावरकर ने कहा था कि गाय बहुत उपयोगी पशु है और उसका सम्मान किया जाना चाहिए। लेकिन, अगर उसकी उपयोगिता खत्म हो जाए तो यह किसानों पर बोझ नहीं बने। अगर किसी ने गाय का मांस खाया है तो उसे दोषी नहीं कहा जा सकता है।

https://twitter.com/i/web/status/851828357545181184

 शरद पवार ये बात संघ संचालक मोहन भागवत के उस बयान पर कहा जिसमें उन्होंने पिछले दिनों दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि पूरे देश में गौहत्या पर बैन लगाने वाला कानून बनना चाहिए। मोहन भागवत ने कहा था, “गऊ हत्या बंदी सरकार के अधीन है। हमारी इच्छा है कि संपूर्ण भारत में गौवंश की हत्या बंद हो। इस कानून को प्रभावी बनाना सरकार की जिम्मेदारी है।”

इसके बाद भागवत ने आगे कहा था कि गायों की रक्षा करते हुए ऐसा कुछ भी नहीं किया जाना चाहिए जिससे कुछ लोगों की मान्यता आहत हो। ऐसा कुछ भी नहीं किया जाना चाहिए जो हिंसक हो। इससे सिर्फ गौरक्षकों के प्रयासों की बदनामी होगी। गायों के संरक्षण का काम कानूनों और संविधान का सम्मान करते हुए किया जाना चाहिए।

 

Top Stories

TOPPOPULARRECENT