Tuesday , August 22 2017
Home / Featured News / अगर भाजपा सत्ता में आई असम को नागपुर से चलाया जायेगा : राहुल

अगर भाजपा सत्ता में आई असम को नागपुर से चलाया जायेगा : राहुल

असम में विधानसभा चुनाव के प्रचार के दौरान मतदाताओं से बात करते हुए राहुल गांधी ने आज कहा कि अगर भाजपा सत्ता में आई तो राज्य को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुख्यालय नागपुर या प्रधानमंत्री कार्यालय से चलाया जाएगा |

उन्होंने लोगों को चेतावनी भी दी कि राज्य में कांग्रेस द्वारा जो शान्ति का माहौल बनाया गया है भाजपा की सत्ता आते ही वो खत्म हो जायेगा और हिंसा शुरू हो जाएगी |

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

उन्होंने कार्बी जिले में यहां एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि “हम चाहते हैं कि किसी की भी भाषा और संस्कृति पर देश में रोक नहीं लगानी चाहिए लेकिन वे आते हैं अपने वोट की बात करते हैं उसके बाद असम यहाँ से नहीं चलाया जाएगा बल्कि राज्य को नागपुर या प्रधानमंत्री कार्यालय से चलाया जाएगा|

सच यही है कि भाजपा जहाँ भी जाती है वहां एक दूसरे को लड़ाने की कोशिश करती है | हरियाणा में कांग्रेस 10 साल से सत्ता में थी लेकिन वहां शांति थी | लेकिन भाजपा के सत्ता में आने के कुछ महीनों बाद ही वहां हिंसा और क्रोध फैलना शुरू हो गया | जाटों और गैर जाटों के बीच हिंसा हुई |

उन्होंने कहा कि आपने देखा गुजरात में क्या हुआ बिहार में चुनाव से पहले उन्होंने हिंसा फैलाने की कोशिश की और अब यही कोशिश वह असम में भी कर रहे हैं वे सिर्फ असम के बारे में नहीं सोचते बल्कि वे पूरे देश में एक विचारधारा थोपने की कोशिश कर रहे हैं |

गाँधी ने कहा कि मोदी द्वारा लोकसभा में किये गये वादों को पूरा नहीं कर पाने की वजह से बिहार के लोगों द्वारा उन्हें विधानसभा चुनाव में हार का मुहं देखना पड़ा |भाजपा पूरे देश पर एक विचारधारा थोपना चाहती है जबकि कांग्रेस धर्म जाती और क्षेत्र के आधार पर लोगों को नहीं बाँटती है |

उन्होंने लोगों से कहा कि भारत भिन्न भिन्न भाषाओँ, और मान्यताओं और रीति रिवाज़ वाला देश है अगर पूरे देश पर एक विचारधारा थोपी जायेगी तो सोचिये फिर आपकी भाषा ,इतिहास ,वेशभूषा का क्या होगा ? उन्होंने कहा कि अगर भाजपा असम में वोट मांगने आती है तो उनसे उन वादों के बारे में सवाल पूछना जो उन्होंने लोकसभा चुनाव के दौरान किये थे जिस तरह से बिहार विधानसभा चुनाव में बिहार के लोगों ने उनसे इस बारे में सवाल किया था और उनके झूठे वादों के लिए उन्हें विधानसभा चुनाव में करारी हार का समाना कराया था |

TOPPOPULARRECENT