Wednesday , October 18 2017
Home / Bihar News / अचानक आई बाढ़ में बहे सैलानी, गांव के लोगों ने जान पर खेलकर बचाया

अचानक आई बाढ़ में बहे सैलानी, गांव के लोगों ने जान पर खेलकर बचाया

गोविंदपुर पहाड़ी सिलसिले में वाकेय टूरिस्ट स्पॉट ककोलत झरना की रफ्तार में अचानक तेजी आ गई। पहाड़ी इलाक़े में जबर्दस्त बारिश से बढ़े पानी की सतह में नीचे गुस्ल कर रहे 50 से ज्यादा सैलानी बह गए, जिन्हें थाली गांव के लोगों ने जान पर खेल

गोविंदपुर पहाड़ी सिलसिले में वाकेय टूरिस्ट स्पॉट ककोलत झरना की रफ्तार में अचानक तेजी आ गई। पहाड़ी इलाक़े में जबर्दस्त बारिश से बढ़े पानी की सतह में नीचे गुस्ल कर रहे 50 से ज्यादा सैलानी बह गए, जिन्हें थाली गांव के लोगों ने जान पर खेलकर बचाया। लोग झरने के शिलाखंडों में फंसे थे।

पानी के तेज बहाव से लोग डेढ़ घंटे तक जूझते रहे। तब तक इंतेजामिया की तरफ से कोई पहल नहीं हुई। झरने के पास ही बसे थाली गांव के लोगों ने अपने महदूद वसायलों से लोगों को बचाया। बाढ़ की वजह छह दुकानें भी बह गईं। सैलानियों को बचाने के दौरान ककोलत झरने के केयर टेकर यमुना पासवान भी बह गए थे, जो किसी तरह बच पाए। यमुना ने अपने दम पर दर्जन भर से ज्यादा लोगों को बचाया।

अचानक बढ़ा पानी

बुध को दर्जनों की तादाद में सैलानी ककोलत झरने में गुस्ल कर रहे थे। तभी जबर्दस्त बारिश हुई। इसके चलते झरने की रफ्तार अचानक काफी तेज हो गया। इसकी वजह से छह ख़वातीन समेत 50 से ज्यादा सैलानी बह गए।

कई सैलानी जख्मी

इस वाकिया में चट्टान से कई सैलानी जख्मी हुए हैं। इनमें नवादा के सिरदला की मालती देवी, ननौरा की रूबी कुमारी, नवादा शहर के रूपेश और गया के रौशन शामिल हैं। मालती देवी को मुक़ामी हॉस्पिटल में दाखिल कराया गया। जिला अफसर ललनजी व एसपी गोताखोरों को लेकर पहुंचे।

TOPPOPULARRECENT