Friday , March 24 2017
Home / Entertainment / अपना कैरियर की शुरुवात मराठी फिल्म ‘घासीराम कोतवाल’ से किए थे ओम पुरी

अपना कैरियर की शुरुवात मराठी फिल्म ‘घासीराम कोतवाल’ से किए थे ओम पुरी

मुंबई : हिंदी सिनेमा के बेहतरीन और उम्दा कलाकार ओम पुरी का निधन हो गया है. एक से बढ़कर एक किरदारों को अपनी एक्टिंग से जीवंत करने वाले ओम पुरी के बारे में आइए जानते हैं कुछ खास बातें. ओम पुरी का जन्म 18 अक्टूबर 1951 को पटियाला पंजाब में पंजाबी खत्री परिवार हुआ था. उन्होने अपना ग्रेजुएशन पुणे के ‘फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया’ से किया.

ओम पुरी ने साल 1973 में दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा के एल्युमनी की लिस्ट में भी जगह बनाई जहां एक्टर नसीरुद्दीन शाह उनके सहपाठी हुआ करते थे. उन्होने 1976 की मराठी फिल्म ‘घासीराम कोतवाल’ से फिल्म इंडस्ट्री में डेब्यू किया. ओम पुरी को फिल्म ‘आरोहण’ और ‘अर्ध सत्य’ के लिए बेस्ट एक्टर का नेशनल अवार्ड भी मिला और एक इंटरव्यू के दौरान ओम पुरी ने कहा, ‘अमिताभ बच्चन महान एक्टर हैं और मैं उनका शुक्रगुजार हूं क्योंकि उन्होंने ‘अर्ध सत्य’ फिल्म करने से इंकार कर दिया था.’

फिल्म ‘बाबुल’ में ओम पुरी के रोल के लिए पहली पसंद अमरीश पुरी थे लेकिन किसी कारणवश यह रोल ओम पुरी के हाथ आया. साल 1988 में ओम पुरी ने दूरदर्शन की मशहूर टीवी सीरीज ‘भारत एक खोज’ में कई भूमिकाएं निभाईं जिन्हें दर्शकों ने काफी सराहा. ओम पुरी की वाइफ नंदिता पुरी ने उनकी बायोग्राफी ‘Unlikely Hero ‘ का विमोचन 23 नवंबर 2009 को किया. ओम पुरी ने अपने करियर में ‘मिर्च मसाला’ ‘ धारावी’ ,अर्ध सत्य’ ‘गुप्त’ ‘माचिस ‘ ‘धूप’ जैसी बेहतरीन हिंदी फिल्मों के साथ सतह अंग्रेजी और अन्य भाषाओं की फिल्में भी कीं. ओम पुरी को साल 1990 में भारत सरकार की तरफ से ‘पद्म श्री’ से सम्मानित किया गया.

Top Stories

TOPPOPULARRECENT