Friday , September 22 2017
Home / Mumbai / अबु सलेम पर सजा लागू कराना केंद्र सरकार का काम- टाडा कोर्ट

अबु सलेम पर सजा लागू कराना केंद्र सरकार का काम- टाडा कोर्ट

मुंबई। 1993 के मुंबई श्रृंखलाबद्ध बम विस्फोट मामले में गैंगेस्टर अबू सलेम को आजीवन कारावास की सजा सुनाने वाली टाडा कोर्ट ने कहा है कि सजा लागू करना केंद्र सरकार के अधिकार क्षेत्र में आता है।

पुर्तगाल में 2002 में गिरफ्तार गैंगेस्टर को 2005 में भारत लाया गया था। उसने दलील दी थी कि दो देशों के बीच प्रत्यर्पण संधि के अनुसार उसे 25 वर्षों से ज्यादा लंबी सजा नहीं दी जा सकती है।

सजा सुनाते हुए अदालत ने कहा था कि बम विस्फोट की तुलना अन्य अपराध से नहीं की जा सकती। यह दुर्लभ मामले की श्रेणी में आता है। यह कोई सामान्य अपराध नहीं है।

आजीवन कारावास की सजा सुनाते हुए टाडा कोर्ट के न्यायाधीश जीए सनप ने गुरुवार को कहा था कि संविधान में न्यायपालिका और कार्यपालिका की भूमिका तय की गई है। सजा सुनाना और उसे लागू करना दो भिन्न पहलू हैं। अदालत जब सजा सुना देती है तो उसे लागू कराना कार्यपालिका के दायरे में आ जाता है।

न्यायाधीश सनप ने कहा कि केंद्र सरकार अपनी शक्ति का स्वेच्छा से इस्तेमाल करने के लिए स्वतंत्र है। वह पुर्तगाल को दिए गए आश्वासन को ध्यान में रखकर सजा लागू करा सकती है।

TOPPOPULARRECENT