Saturday , October 21 2017
Home / India / अबू जिंदाल के ख़िलाफ़ मुक़द्दमे की समाअत को अदालत की मंज़ूरी

अबू जिंदाल के ख़िलाफ़ मुक़द्दमे की समाअत को अदालत की मंज़ूरी

नासिक, 23 फ़रवरी: महाराष्ट्रा में नासिक की एक मुक़ामी अदालत ने महाराष्ट्रा पुलिस एकेडेमी ( एम पी ए ) पर हमले की साज़िश के एक वाक़िये में लश्करे तय्येबा के मुबय्यना कारकुन और मुंबई दहश्तगर्द हमले के मुल्ज़िम सय्यद रज़ीउद्दीन अंसारी उर्फ़

नासिक, 23 फ़रवरी: महाराष्ट्रा में नासिक की एक मुक़ामी अदालत ने महाराष्ट्रा पुलिस एकेडेमी ( एम पी ए ) पर हमले की साज़िश के एक वाक़िये में लश्करे तय्येबा के मुबय्यना कारकुन और मुंबई दहश्तगर्द हमले के मुल्ज़िम सय्यद रज़ीउद्दीन अंसारी उर्फ़ अबू जिंदाल के ख़िलाफ़ ख़ुसूसी ज़िला-ओ-सेशन्स जज की अदालत में मुक़द्दमा शुरू करने की इजाज़त दे दी है। डिस्ट्रिक्ट एंड सेशन्स जज के के तानतरा पाले ने बेहस की समाअत के बाद ये अहकाम जारी किये।

ख़ुसूसी इस्तिग़ासा आम्मा अजे मिश्रा ने अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत के दौरान ये इन्किशाफ़ किया। अबू जिंदाल फ़िलहाल किसी दूसरे मुक़द्दमे के ज़िमन में मुंबई जेल में महरूस है। महाराष्ट्रा के इन्सिदादे दहशत गर्दी उसको एड ( ए टी एस) ने इस माह के अवाइल में एम पी ए पर हमला वाक़िया में अबू जिंदाल के ख़िलाफ़ चार्ज शीट पेश की थी। 2010 के दौरान एम पी ए पर हमले की साज़िश के मुक़द्दमे में मजमूई तौर पर 9 मुल्ज़िमीन हैं जिन में बिलाल शेख़ उर्फ़ लाल बाबा और हिमायत बैग भी शामिल हैं।

9 के मिन्जुमला 6 मुल्ज़िमीन मफ़रूर बताए गए हैं। बिलाल शेख़ और पूना धमाकों के मुल्ज़िम हिमायत बेग को ए टी उसने 2010‍ में उस वक़्त गिरफ़्तार कर लिया था जब वो नासिक में बिशमोल एम पी ए के कई अहम मुक़ामात का खूफिया मुआइना कर रहे थे जो मुबय्यना तौर पर उन मुक़ामात पर हमलों की साज़िश का एक हिस्सा था। बिलाल शेख़ उर्फ़ लाल बाबा को नासिक के सतपूर मुहल्ले में गिरफ़्तार किया था। इस के क़बज़े से 750 ग्राम आर डी एक्स अहम मुक़ामात के नक़्शा चंद सी डीज़ और दस्तावेज़ात ज़ब्त किये गए थे।

TOPPOPULARRECENT