Friday , September 22 2017
Home / Khaas Khabar / अब्दुल कलाम की ज़िन्दगी पर फ़िल्म की तैयारी के लिए तवील वक़्त दरकार : पांडा

अब्दुल कलाम की ज़िन्दगी पर फ़िल्म की तैयारी के लिए तवील वक़्त दरकार : पांडा

नई दिल्ली: फ़िल्मसाज़ नीला माधब पांडा जो कि डाँक्टर ए पी जे अब्दुल कलाम की ज़िन्दगी पर फ़िल्म बनाने का मन्सूबा रखते हैं। बताया है कि साबिक़ सदर जम्हूरीया पर फ़िल्म की हिदायत कारी के लिये उन्हें ख़ातिर-ख़्वाह वक़्त की ज़रूरत है। फ़िल्म मैं कलाम हूँ के हिदायत कार ने बताया कि उन्होंने अब्दुल कलाम के साथ उनकी ज़िन्दगी में ही एक फ़िल्म की तैयारी के बारे में तबादला ख़्याल कर चुके हैं ।

उन्होंने बताया कि किसी बुलंद क़ामत शख्सियत पर फ़िल्म बनाने के लिये कम अज़ कम 3 साल दरकार होते हैं। मिस्टर एन एम पांडा ने बताया कि उन्होंने मैं कलाम हूँ , I am Kalam फ़िल्म बनाई थी जो कि कलाम की ज़िंदगी पर नहीं बल्कि उनके जज़बा और तालीमात पर थीं और इस फ़िल्म में एक गरीब राजस्थानी लड़के को पेश किया गया था जिसने साबिक़ सदर जम्हूरीया की तक़ारीर से फैज़ान हासिल करते हुए तरक़्क़ी की थी। मिस्टर एन एम पांडा की ताज़ा फ़िल्म कौन कितने पानी में है थियटरों में नुमाइश जारी है।

TOPPOPULARRECENT