Tuesday , October 24 2017
Home / Uttar Pradesh / अब मैं आज़ाद हूँ, हर हाल में लड़ूंगी मेयर इंतिखाबत : रमा खलखो

अब मैं आज़ाद हूँ, हर हाल में लड़ूंगी मेयर इंतिखाबत : रमा खलखो

जेल से पांच महीने के बाद निकलने पर साबिक़ मेयर रमा खलखो ने खुसी का इज़हार करते हुए कहा कि जेल सफर बुरा वक़्त थी, जो बुरे ख्वाब की तरह खत्म हो गयी। अब फिर से मैं आज़ाद हूं। इंतिख़ाब की तैयारी शुरू कर दी है और हर हालत में मेयर इंतिख़ाब लड़ूंगी

जेल से पांच महीने के बाद निकलने पर साबिक़ मेयर रमा खलखो ने खुसी का इज़हार करते हुए कहा कि जेल सफर बुरा वक़्त थी, जो बुरे ख्वाब की तरह खत्म हो गयी। अब फिर से मैं आज़ाद हूं। इंतिख़ाब की तैयारी शुरू कर दी है और हर हालत में मेयर इंतिख़ाब लड़ूंगी। नये तरीके से हर चीज की शुरुआत होगी। नोट फॉर वोट मामले में मौलूसीयत पर उन्होंने कहा कि यह अदालत का मामला है और अदालत पर मुङो पूरा यकीन है।

इधर, साबिक़ मेयर रमा खलखो के पीए मो फिरोज खान ने बताया कि घर पहुंचते ही रमा खलखो का हिनू रिहायशीयों ने गर्मजोशी के साथ उनका इस्तकबाल किया। मंगल को शाम 5.45 बजे के करीब रिलीज ऑर्डर होटवार जेल पहुंचा। सारी अमल पूरी करने के बाद रमा को जेल से बाहर निकाला गया। इस दौरान कांग्रेसी लीडर सुनील सहाय, जेपी गुप्ता, राजकुमार तिवारी, शहर सदर सुरेंद्र सिंह, निरंजन शर्मा, नारायण उरांव समेत कई लोग जेल गेट पर साबिक़ मेयर को लेने पहुंचे।

गौरतलब है कि चार जून को रमा खलखो ने नोट फॉर वोट मामले में अदालत में सरेंडर किया था। पीर को हाइकोर्ट ने उन्हें 50-50 हजार रुपये के दो ज़ाती मुचलके पर जमानत दी।

TOPPOPULARRECENT