Thursday , October 19 2017
Home / Hyderabad News / अब सिम कार्ड सेंटर्स और किराए दारों पर तवज्जा मर्कूज़

अब सिम कार्ड सेंटर्स और किराए दारों पर तवज्जा मर्कूज़

हैदराबाद 27 फरवरी: दिलसुखनगर जुड़वां बम धमाकों का सुराग़ लगाने के लिए सिटी पुलिस और दीगर तहक़ीक़ाती एजेंसीयों ने अपनी कोशिशों में शिद्दत पैदा करदी है । पुलिस अब अपनी तवज्जा मोबाईल फ़ोन सिम कार्ड रीचार्ज सेंटर्स की जांच पड़ताल के अ

हैदराबाद 27 फरवरी: दिलसुखनगर जुड़वां बम धमाकों का सुराग़ लगाने के लिए सिटी पुलिस और दीगर तहक़ीक़ाती एजेंसीयों ने अपनी कोशिशों में शिद्दत पैदा करदी है । पुलिस अब अपनी तवज्जा मोबाईल फ़ोन सिम कार्ड रीचार्ज सेंटर्स की जांच पड़ताल के अलावा किराया दारों की तसदीक़ के लिए घर घर पहूंच रही हैं ।

बावसूक़ ज़राए ने बताया कि सेंट्रल क्राईम स्टेशन और स्पैशल इन्वेस्टीगेशन टीम के ओहदेदारों पर मुश्तमिल 10 टीमें शहर के मुख़्तलिफ़ इलाक़ों में पहूंच कर मख़सूस इलाक़ों में मकानात पर सादे लिबास में मलबूस ओहदेदार मकान मालकीयन से किराया दारों से मुताल्लिक़ तफ़सीलात हासिल कररहे हैं ।

इंटेलिजेंस एजेंसीयों को ठोस इत्तिला दस्तयाब होने पर अपनी तवज्जा मोबाईल फ़ोन रीचार्ज सेंटर्स पर किए हुए हैं । बताया जाता है कि इंटेलिजेंस को ये इतेला मौसूल हुई है कि बम धमाकों की कारस्तानी अंजाम देने वाले ख़ातियों ने शहर में बैरून-ए-रयासत के मोबाईल फोन्स सिम कार्ड्स का इसतेमाल किया है ।

तहक़ीक़ाती एजेंसीयों के ओहदेदार रीचार्ज सेंटर्स पहूंच कर दीगर रियास्तों बिशमोल महाराष्ट्रा उत्तरप्रदेश बिहार झारखंड और कर्नाटक के सिम कार्ड्स के शहर में इस्तेमाल का पता लगाने की कोशिश कररही हैं ।

बम धमाकों के फ़ौरी बाद नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी और काव‌नटर इंटेलिजेंस के ओहदेदारों ने दिलसुखनगर मुक़ाम वारदात के इर्दगिर्द नसब किए हुए मोबाईल फ़ोन टावर्स की तफ़सीलात हासिल करते हुए चंद मोबाईल फ़ोन नंबरात से मुताल्लिक़ तहक़ीक़ात का आग़ाज़ किया है ।

पुलिस शहर के मुख़्तलिफ़ इलाक़ों बिशमोल सईदाबाद मलकपेट हाफ़िज़बाबानगर गुलशन इक़बाल कॉलोनी टोली चौकी और दीगर इलाक़ों के टावर्स से भी शुमाली हिंद के सिम कार्ड्स का शहर में इस्तेमाल का पता लगाने की कोशिश कररही है । बताया जाता है कि चैरला पली और चंचल गौड़ा जेलों के अलावा वरनगल राजमनडरी और नेलोर जेल के क़रीब मौजूद मोबाईल फ़ोन टावर्स की मदद से भी चंद मोबाईल फ़ोन नंबरात की तफ़सीलात हासिल किए जा रहे हैं ।

पुलिस इस बात का पता लगाने की कोशिश कररही है कि क्या जेल में दहश्त गिरदाना इल्ज़ाम में महरूस अफ़राद ने जेल के अंदर से अपने साथीयों से बातचीत करने की कोशिश की है ।

TOPPOPULARRECENT