Saturday , October 21 2017
Home / Bihar News / अब सीतामढ़ी में 63 बच्चे बीमार

अब सीतामढ़ी में 63 बच्चे बीमार

आखिर अपने बिहार को क्या हो गया है। जुमा को सीतामढ़ी में चापाकल का पानी पीने से 63 बच्चे बीमार हो गये, जिनमें 43 को एसकेएमसीएच में भरती कराया गया है। अरवल व जहानाबाद के स्कूलों के चापाकलों का पानी पीते ही बावर्ची, असात्ज़ा और बच्चे बीम

आखिर अपने बिहार को क्या हो गया है। जुमा को सीतामढ़ी में चापाकल का पानी पीने से 63 बच्चे बीमार हो गये, जिनमें 43 को एसकेएमसीएच में भरती कराया गया है। अरवल व जहानाबाद के स्कूलों के चापाकलों का पानी पीते ही बावर्ची, असात्ज़ा और बच्चे बीमार हो गये। आनन-फानन में उन्हें अस्पतालों में भरती कराया गया। वहीं, भागलपुर के नवगछिया के स्कूल में एक तालिबे इल्म के पास ज़हर पाया गया। उधर, वज़ीरे आला ने पैटर्न पता करने को कहा है। यह भी कहा कि जांच से ही पता चलेगा कि जहर डाला गया है या नहीं, पर इतना तय है कि बच्चों को निशाना बनाया जा रहा है।

सीतामढ़ी जिले के रून्नीसैदपुर ब्लाक के ठाहर गांव वाक़ेय कस्तूरबा गांधी बालिका स्कूल में जुमा को चापाकल का पानी पीने से टीचर, बावर्ची के अलावा 63 तालेबा बीमार हो गयीं। आनन-फानन में तमाम को मुकामी पीएचसी लाया गया, जहां से 43 तलेबात को एकेएमसीएच, मुजफ्फरपुर भेज दिया गया।

इत्तेला मिलते ही डीएम डॉ प्रतिमा, एसपी पंकज सिन्हा, डीडीसी मनोज कुमार सिंह, सीएस डॉ ओमप्रकाश, सदर एसडीओ राजेश कुमार, सदर डीएसपी संजय कुमार व डीइओ समेत कई अफसर जाए हादसा पर पहुंचे। वहां डोक्टरों से सलाह-मशविरा के बाद डीएम डॉ प्रतिमा की हिदायत पर 43 तलेबात को एसकेएमसीएच, मुजफ्फरपुर में भरती कराया गया। वाकिया के बाद वहां बड़ी तादाद में पुलिस फ़ोर्स को भी तैनात कर दिया गया।

बीमार तालिबे इल्म और एक टीचर ने बताया कि सुबह गांव का एक सख्स गिलास लेकर चापाकल पर गया था। उसके बाद पानी पीने से तलेबात बेहोस होने लगी। सदर एसडीओ राजेश कुमार ने कहा कि पानी की जांच हो रही है। डोक्टरों ने जहर का मामला नहीं बताया है। पानी को ज़हरीला बनानेवाले को निशान देहि कर छापेमारी की जा रही है। स्पीडी ट्रायल चला कर सजा दिलायी जायेगी।

TOPPOPULARRECENT