Sunday , October 22 2017
Home / Khaas Khabar / अब सोशल मीडिया भाजपा के निशाने पर, बीजेपी राज्य में बनेगी सोशल मीडिया पॉलिसी

अब सोशल मीडिया भाजपा के निशाने पर, बीजेपी राज्य में बनेगी सोशल मीडिया पॉलिसी

भोपाल: सोशल मीडिया पूरी दुनिया में क्रांति ला रहा है। पिछले कुछ दशकों में भारत भी इससे बच नहीं सका। ‘डिजिटल इंडिया’ केंद्र सरकार का नारा है और भारत एक महत्वपूर्ण डिजिटल क्रांति की ओर बढ़ रहा है, लेकिन ऐसी कुछ सरकारें हैं, जो सोशल मीडिया को लेकर पोलिसी बनाने की पहल भी कर रही हैं।हाल ही में मध्य प्रदेश सरकार ने सोशल मीडिया पर लगाम के लिए पोलिसी बनाने के संकेत दिए हैं।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

न्यूज़ नेटवर्क समूह प्रदेश 18 के अनुसार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक के संयुक्त सम्मेलन में सोशल मीडिया के दुरुपयोग को रोकने और समाज के हित में बेहतर इस्तेमाल को लेकर राज्य में पोलिसी बनाने की बात कही।
शिवराज सिंह का मानना है कि कुछ लोग समाज में अस्थिरता का माहौल फैलाते हैं, इसलिए उन पर लगाम लगाने की जरूरत है और इसके लिए सोशल मीडिया का बेहतर इस्तेमाल किया जाएगा।
आपको बता दें कि भारत में सोशल मीडिया के उपयोग की प्रवृत्ति तेजी से फैल रहा है। देश में सोशल मीडिया का उपयोग करने वाले लोगों की संख्या अप्रैल तक 14.3 करोड़ पर पहुंच गई, जिस में ग्रामीण क्षेत्रों में उपयोगकर्ता की संख्या पिछले एक साल में 100 प्रतिशत तक बढ़कर ढाई करोड़ पहुंच गई है।इंटरनेट के फैलाव के साथ ही देश में सोशल मीडिया का उपयोग करने वालों की संख्या में भी तेजी से वृद्धि हुई है, जिसकी वजह से उसका दुरुपयोग भी पर्याप्त हुआ है।
पिछले कुछ सालों में असम, दक्षिण भारत और उत्तर भारत के कई राज्यों में सोशल मीडिया ने शांति में भी खलल डाला है। हाल ही में देश के सर्वोच्च न्यायालय ने सोशल मीडिया पर नियंत्रण के संकेत भी दिए हैं। सुप्रीम कोर्ट का मानना है कि ऑनलाइन सोशल मीडिया के माध्यम से अपमानजनक संदेश फैलाना ठीक नहीं है।
इंटरनेट एंड मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया और आई एम आर बी इंटरनेशनल की एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वाले लोगों की संख्या 14.3 करोड़ से अधिक है।
चौंकाने वाला तथ्य यह है कि शहरी और महानगरीय क्षेत्रों में नहीं, बल्कि ग्रामीण क्षेत्रों में सोशल मीडिया बहुत तेजी से फैल रहा है और गति 100 प्रतिशत रही है। बेशक सोशल मीडिया के इस तेजी से बढ़ रहे प्रसार ने और वह भी ग्रामीण क्षेत्रों में, इसके दुरुपयोग को लेकर सरकार की चिंता बढ़ा दी है।
रिपोर्ट की मानें तो ग्रामीण क्षेत्रों में पिछले एक साल के दौरान सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वाले लोगों की संख्या ढाई करोड़ पर पहुंच गया, जबकि शहरी क्षेत्रों में यह संख्या 35 प्रतिशत बढ़कर 11.8 करोड़ रही। शहरी क्षेत्रों में सामाजिक मीडिया का उपयोग करने वालों में लगभग आधा चार बड़े शहरों से हैं। इनमें सबसे अधिक 34 प्रतिशत हिस्सेदारी कॉलेज जाने वाले छात्रों की है। रिपोर्ट में कहा गया कि इनमें से 61 प्रतिशत लोग मोबाइल पर सोशल मीडिया का उपयोग करते हैं।

TOPPOPULARRECENT