Thursday , August 17 2017
Home / Khaas Khabar / ‘अमीरों का लोन माफ कर गरीबों को धमका रहे हैं मोदी’

‘अमीरों का लोन माफ कर गरीबों को धमका रहे हैं मोदी’

दिल्ली : केजरीवाल ने पीएम मोदी पर एक और आरोप लगाया. केजरीवाल ने कहा बड़े बड़े धनाड्यों का एक लाख 14 हजार करोड़ का लोन माफ कर दिया। उनसे क्या रिश्ता था. सुप्रीम कोर्ट भी कह रहा है कि किन किन का लोन माफ किया तो कह रहे हैं कि नाम नहीं बताएंगे. ये नाम इसलिए नहीं बता रहे क्योंकि पता चल जाएगा कौन कौन लोग इनके दोस्त थे. इतनी बड़ी रकम माफ कपने के बाद छोटे लोगों को धमका रहे हैं कि 2.5 लाख रुपये ज्यादा जमाकरवा दिया तो तुम्हें छोड़ेंगे नहीं. गरीबों से दुश्मनी है इनकी और ये अमीरों की पार्टी है. 8 लाख 55 हजार करोड़ का कुल लोन अमीरों के बांटे गए, जिनमें से 5 लाख करोड़ का लोन डूब गया है, सीएजी की रिपोर्ट भी यही कहती है.”

केजरीवाल ने कहा, ‘’2011 में 648 लोगों की लिस्ट आयी थी. इस लिस्ट में देश के सारे अरबपतियों के नाम थे. उनमें कुछ नाम जब मुझे पता चले तो मैंने बताए थे. कांग्रेस उन लोगों के साथ मिली थी उनके साथ. अब मोदी जी भी कुछ नहीं लिख रहे हैं. उन लिस्ट में उन सभी के अकाउंट नंबर लिखे हैं. बस स्विटजरलैंड सरकार को एक चिट्ठी लिखनी थी कि उनकी डीटेल हमें दो.’’

केजरीवाल ने एक अखबार कि रिपोर्ट पर दावा करते हुए कहा कि अडानी सरकार आने के बाद अडानी ने 5468 करोड़ रुपये फर्जी बिल बनाकर देश से बाहर भेज दिए. उन पर कोई एक्शन नहीं. उस मामले की जांच कर रहे ईडी अफसरों को भी हटा दिया गया. मोदी सरकार कालेधन पर नहीं बल्कि देश के गरीबों पर हमला कर रही है.

केजरीवाल ने पीएम मोदी का नाम लेते हुए गंभीर आरोप लगाया कि देश के अमीर लोग मोदी जी को पैसा देते हैं और बदले में मोदी जी इसके खिलाफ कोई एक्शन नहीं होने देते. नोटबंदी से पहले इन लोगों को बता देते हैं और इन लोगों का काम करवाते हैं. नोटबंदी पर केजरीवाल ने कहा, ‘’मोदी सरकार गरीबों की दुश्मन और अमीरों की दोस्त है. नोटबंदी केबाद दिल्ली में दहशत का माहौल है. लोगों के घरों में शादियां टूट रही हैं. सिर्फ आम आदमी परेशान हो रहा है.’’

केजरीवाल ने कहा, ‘’केंद्र सरकार ने विजयमाल्या को तो 8000 करोड़ रुपये के साथ विदेश भगा दिया. 2.5 लाख रुपये जमा करने वालों को डरा रहे. ” केजरीवाल ने कहा, ”जनार्दन रेड्डी की बेटी की शादी है. उनके यहां 500 करोड़ रुपये खर्च होने हैं. ये पैसा कहां से आया. उनके पास 2000 के नोट कहां से आए. उनके घर छापा नहीं पड़ेगा क्योंकि वो बीजेपी के दोस्त हैं.

केजरीवाल के भाषण के दौरान बीजेपी विधायक विजेंद्र गुप्ता स्पीकर की चेतावनी के बाद भी लगातार केजरीवाल को बोलने से रोक रहे थे. स्पीकर ने मार्शल को बुला कर सदन उन्हें सदन से बाहर करने का आदेश दिया.

TOPPOPULARRECENT