Thursday , August 24 2017
Home / Featured News / अमेरिका: डॉनल्ड ट्रंप के लिए मुश्किल बन रहे हैं टेड क्रूज:

अमेरिका: डॉनल्ड ट्रंप के लिए मुश्किल बन रहे हैं टेड क्रूज:

index

वॉशिंगटन| अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव को लेकर अरबपति रीयल एस्टेट बिजनसमैन डॉनल्ड ट्रंप अपनी पार्टी के भीतर और विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी के लिए चर्चा का केंद्र बने हुए हैं। रिपब्लिकन पार्टी के नेताओं को अब लग रहा है कि टेड क्रूज ही डॉनल्ड ट्रंप को रिपब्लिकन कैंडिडेट बनने से रोक सकते हैं। रिपब्लिकन पार्टी के भीतर डॉनल्ड ट्रंप को लेकर भारी चिंता जतायी जा रही है।

टेक्सस सेनेटर क्रूज ने शनिवार को हुई वोटिंग में ट्रंप को कड़ी चुनौती दी। क्रूज ने भरोसे के साथ कहा कि वह एकमात्र शख्स हैं जो ट्रंप को हराने की क्षमता रखते हैं। डेलिगेट्स की संख्या के मामले में मार्को रुबियो से ट्रंप और क्रूज बहुत आगे निकल चुके हैं। नॉमिनेशन कॉन्टेस्ट में फ्लोरिडा के गनर्वर मार्को रुबियो बुरी तरह से पहले ही पिछड़ चुके हैं।

यदि मार्को रुबियो का यही प्रदर्शन लगातार जारी रहता है तो वह सबसे नए स्थापित उम्मीदवार होंगे जो मतदाताओं के गुस्से और निराशा का शिकार बनेंगे जिन्हें पार्टी के नेताओं और न्यूजपेपर संपादकीय ने भी इग्नोर किया। हाल के हफ्तों में रुबियो का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा फिर भी उनकी अपील रिपब्लिकन वोटर्स में काम नहीं आ रही है।

रुबियो ने रविवार को पुएर्ते रिको प्राइमरी में जीत हासिल की। 2016 के साइकल में यह उनकी दूसरी जीत है। डेमोक्रेट्स के लिए रविवार को मेइन में कॉकस था। यहां बर्नी सैंडर्स ने जीत हासिल की। उन्होंने अपनी प्रतिद्वंद्वी हिलरी क्लिंटन को हराया। नॉमिनेशन प्रक्रिया में अब तक 19 कॉन्टेस्ट में सैंडर्स आठ जीतने में कामयाब रहे हैं।

डेमोक्रेट्स हिलरी क्लिंटन और बर्नी सैंडर्स के बीच रविवार रात फ्लिंट, मिशिगन और आर्थिक नीतियों में मतभेदों पर तीखी बहस हुई। मिशिगन में प्राइमरी से पहले शहर के लोग अपनी समस्याओं को लेकर गोलबंद हो रहे हैं। यहां के पेय जल में सीसे की समस्या है। अमेरिका की पूर्व विदेश मंत्री और सेनेटर हिलरी क्लिंटन ने दावा किया है कि उनके पास केवल विश्वसनीय नीति है जिससे पगार में बढ़ोतरी हो सकती है। हाल ही में क्लिंटन ने कंपनियों को दिए जाने वाले टैक्स फायदे को वापस लेने की योजना पर काम करने का वादा किया है। उन्होंने कहा है इस पैसे का इस्तेमाल अमेरिका में निवेश बढ़ाने में किया जाएगा।

सैंडर्स ने रविवार को डेट्रॉयट फ्री प्रेस में लिखा था कि उनकी प्रतिद्वंद्वी दुर्भाग्यपूर्ण ट्रेड डील का समर्थन कर रही हैं। उन्होंने इसके लिए नॉर्थ अमेरिकन ट्रेड अग्रीमेंट और चीन के साथ नॉर्मलाइज्ड ट्रेड रिलेशन का उदाहरण दिया। सैंडर्स ने कहा कि इस नीति से हजारों की नौकरी खत्म हो जाएगी। सैंडर्स ने कहा कि इसका असर सबसे ज्यादा डेट्रॉयट और फ्लिंट शहर में पड़ेगा।

सैंडर्स ने शनिवार को डेमोक्रेटिक कॉन्टेस्ट में कैन्जस और नेब्रास्का में जीत हासिल की थी। हालांकि क्लिंटन ने लुइसियाना में भारी जीत हासिल की। नैशनल नॉमिनेटिंग कन्वेंशन में डेलिगेट्स की संख्या के मामले में क्लिंटन सैंडर्स से बहुत आगे हैं। मेइन में 25 डेलिगेट्स हैं। सैंडर्स 14 को अपने पाले में करने में कामयाब रहे हैं जबकि क्लिंटन के पाले में 6 आए हैं। हालांकि संपूर्ण बढ़त में सैंडर्स की इस जीत से क्लिंटन पर कोई खास प्रभाव नहीं पड़ने जा रहा। हिलरी क्लिंटन के समर्थन में कांग्रेस सदस्य, गवर्नर और पार्टी ऑफिशल हैं।

यदि पार्टी लीडर्स को शामिल कर लिया जाए तो क्लिंटन के पास कम से कम 1,129 डेलिगेट्स हैं जबकि सैंडर्स के पास 498 ही हैं। यहां जीत के लिए 2,383 डेलिगेट्स की जरूरत पड़ेगी। दूसरी तरफ रिपब्लिकन रेस में ट्रंप के खिलाफ टेड क्रूज को लेकर गोलबंदी बढ़ रही है। यदि टेड क्रूज ट्रंप के विकल्प के रूप में उभर रहे हैं तो उनका समर्थन रिपब्लिकन पार्टी के भीतर बढ़ेगा। 2012 के रिपब्लिकन राष्ट्रपति कैंडिडेट मिट रोमनी ने कहा है कि निश्चित रूप से ट्रंप विरोधी के रूप में टेड क्रूज की उम्मीदवारी उभरेगी। रोमनी ने कहा, ‘बहुत लोग हैरान रह जाएंगे जब टेड क्रूज खुद को साबित करेंगे।

Source-NBT

TOPPOPULARRECENT