Wednesday , August 23 2017
Home / International / अमेरिका ने पाकिस्‍तान को लगाई फटकार: कहा, उरी हमले की जांच में सहयोग करे दिल्‍ली को

अमेरिका ने पाकिस्‍तान को लगाई फटकार: कहा, उरी हमले की जांच में सहयोग करे दिल्‍ली को

न्यू यॉर्क: अब अमेरिका ने भी पाकिस्तान को डांटते हुए कहा है कि वह उरी आतंकी हमले की जांच में नई दिल्ली को सहयोग करे। दरअसल, पाकिस्तान अपनी ही रणनीति में इंटरनेशनल लेवल पर बुरी तरह से फंसता दिख रहा है। उरी में इंडियन आर्मी बेस पर आतंकी हमले के बाद से वह और बुरी तरह‌ घिर गया है।बुधवार को यूनाइटेड नेशन की जनरल असेंबली में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने आतंकी बुरहान वाणी को कश्मीर की आवाज कहा था। इसके बाद भारत ने कड़ी आपत्ति जताते हुए पाकिस्तान को आतंकी राष्ट्र करार दिया।अमेरिका ने पाकिस्तान से दो टूक कहा कि वह आतंकियों पर कार्यवाही को लेकर कोई बहानेबाजी न करे।

यूएस ने कहा कि पाकिस्तान आतंकियों पर प्रभावी ऐक्शन ले। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने यूनाइटेड नेशन जनरल असेंबली में अलग से मुलाकात की थी। केरी ने उरी में हुए आतंकी हमले पर शरीफ से बात की। इस बारे में अमेरिकी स्टेट डिपार्टमेंट ने जानकारी दी है। केरी ने शरीफ से कहा कि वह नई दिल्ली को उरी हमले की जांच में मदद करें।अमेरिका ने भी इस मामले में भारत को जांच में मदद मुहैया कराने की पेशकश की है। अमेरिकी स्टेट डिपार्टमेंट ने कहा, ‘हम लोग इस मामले में अगली सूचना का इंतेजार कर रहे हैं। हमने भारतीय सरकार से इस मामले में मदद की पेशकश की है। इसके साथ ही हमने पाकिस्तान से भी कहा है कि वह नई दिल्ली के साथ सहयोग करे।

दूसरी तरफ नवाज शरीफ चाहते थे यूनाइटेड नेशन से उन्हें कश्मीर राग पर समर्थन मिले लेकिन यूएन चीफ ने अपनी स्पीच में कश्मीर का जिक्र तक नहीं किया। इसके बाद शरीफ ने यूएन चीफ बान की मून से मुलाकात की। इस मुलाकात में भी उन्होंने अलग से कश्मीर का मुद्दा उठाया। पाकिस्तान की ओर से संयुक्त में बार-बार अनुरोध किए जाने पर संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की-मून ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से कहा कि पाकिस्तान और भारत को कश्मीर समेत अपने लंबित मुद्दे ‘वार्ता’ के जरिए सुलझाने चाहिए।
बान की टिप्पणियां ऐसे समय पर आई हैं, जब शरीफ ने उन्हें कश्मीर में भारतीय बलों द्वारा किए जा रहे मानवाधिकार के कथित उल्लंघनों से जुड़ा एक डोजियर सौंपा है। जिसमें कश्मीरियों के खिलाफ किए जाने वाले कथित अत्याचारों और मानवाधिकार उल्लंघनों के सबूत और जानकारी थी।

TOPPOPULARRECENT