Tuesday , May 30 2017
Home / International / अमेरिका: मुस्लिम छात्रा को हिजाब की वजह से स्कूल बस से उतारा गया

अमेरिका: मुस्लिम छात्रा को हिजाब की वजह से स्कूल बस से उतारा गया

लॉस एंजेलेस: एक १५ वर्षीय मुस्लिम छात्रा के अभिभावकों ने बताया की उसके हिजाब की वजह से, स्कूल बस के ड्राइवर ने उसे दो बार बस से निचे उतार दिया| इसलिए उन्होंने स्कूल डिस्ट्रिक्ट से मांग करि है की वह इस घट्न के लिए उनसे माफ़ी मांगे|

जाना बाकीर नाम की यह छात्रा टिम्पविएव हाई स्कूल में पढ़ती है जो प्रोवो सिटी, उटाह में इस्थित है, जब उसने बस में चढ़ने की कोशिश करी तो बस ड्राइवर ने इण्टरकॉम इस्तेमाल करके बोला ” अरे तुम नीले बालों वाली चीज़, बस से उतरो, तुम्हारा इस जगह से कोई वास्ता नहीं है,” परिवार के वकील, रंडल स्पेसर ने बताया|

” यह हिजाब मेरा वह हिस्सा है जो बताता है की मैं कौन हूँ, कहाँ से तलूक रखती हूँ और मेरा मज़हब क्या है| मैं हर दिन अपने कपड़ो के हिसाब से अपना हिजाब पहनती हूँ,” बाकीर ने एबीसी न्यूज़ को बताया|

” बस ड्राइवर ने स्पीकर लिया और मैंने नीले रंग का हिजाब पहना था, और उसने ऐसे किया “अरे तुम नीली सी वस्तु, तुम इस बस में नहीं जाती और ना ही मैंने तुम्हे कभी इस बस में जाते हुए देखा है,बस से उतारो|” बाकीर ने फिछले महीने हुई इस घटना को बयां किया|

उसने बताया की वह इस घटना से काफी शर्मिंदा हुई और बस से उतरते समय रोने लगीं,” वह बहुत शर्मिंदा करने वाला पल था जब सब लोग मुझे घूर रहे थे”

” मैंने विन्रमता से पुछा, क्या मैं आज बस मैं जा सकती हूँ? और बस ड्राइवर ने अपने हाथ से बस में जाने का रास्ता रोक दिया|” बाकीर ने बताया

” मैं पूरी तरह से इसे भेदभाव का मामला मानता हूँ” परिवार के वकील,स्पेंसर ने बताया|

“बस ड्राइवर को बाकीर का नाम तक नहीं पता था, हमे नहीं लगता, और की यह जानकारी होगी या फिर इसे लिस्ट में देखा गया होगा की लड़की का नाम लिस्ट में है या नहीं,”स्पेंसर ने डेली हेराल्ड को बताया|

“बस ड्राइवर सिर्फ इतना जानती थी की वह लड़की को नहीं जानती और वह लड़की एक मुस्लिम है जिसने हिजाब पेहेन रखा है'” उन्होंने कहा|

स्कूल के प्रवक्ता, कैलेब प्राइस, ने बताया की छात्र सिर्फ बताई गयी बसों में ही बैठ सकते है और इस छात्रा को इस बस की जगह किसी दूसरी बस में बैठना था|”

“हमारी कारवाही के मुताबिक़, बस ड्राइवर ने ऐसा कुछ नहीं करा है जिसे भेदभाव से प्रभावित माना जाए|, कैलेब ने बताया|

वंही, स्पेंसर ने बताया की बाकीर उसी बस रूट पर बैठी थी जिस पर वह जाती आयी है,वह मिडिल स्कूल मैं थी, जहाँ बस ड्राइवर अलग था|

माफ़ी मांगें के अलावा, बाकीर का परिवार चाहता है की स्कूल प्रशासन, संवेदनशीलता की ट्रेनिंग भी कराए| ट्रम्प के राष्ट्रपति बने के बाद से हिजाब पहने वाली महिलाओं के ऊपर बढ़े अपराधों में यह एक और मामला निकल कर सामने आया है|

Top Stories

TOPPOPULARRECENT