Thursday , July 20 2017
Home / Featured News / अमेरिका में मुसलमानों से नफरत में 1000 प्रतिशत की वृद्धि

अमेरिका में मुसलमानों से नफरत में 1000 प्रतिशत की वृद्धि

लंदन: अमेरिका में मुस्लिम कार्यकर्ताओं के एक समूह के अनुसार डोनाल्ड ट्रम्प के जनवरी में अध्यक्षता होने के बाद अमेरिकी सीमाओं पर इस्लाम से नफरत की घटनाओं में 1000 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। कौंसिल औफ‌ अमेरिका। इस्लामी संबंध (केर) ने देश भर में अपने शाखाओं से प्राप्त जानकारी के आधार पर कहा है कि 2017 के पहले 3 महीनों अमेरिकी सीमा शुल्क और सीमा सुरक्षा अधिकारियों पर मुसलमानों से विपरीत सामान्य पूछताछ और सखती 23 प्रतिशत घटनाएं हुईं।

जनवरी से मार्च 2017 कस़्टम़्स और सीमा सुरक्षा 193 केसेस दर्ज किए गए जिनमें 181 घटनाओं बाहरी आतंकवादियों इंटीरियर से देश की सुरक्षा से संबंधित राष्ट्रपति ट्रम्प के झमलाना हुकुम नामह 27 जनवरी को हस्ताक्षर के बाद पेश आए हैं। इन आदेशों को मुसलमानों की यात्रा अमेरिका में ट्रम्प प्रशासन अवरोध भी कहा जाता है।

2016 के शुरुआती 3 महीनों में ही 17 घटनाए दर्ज किए थे। केर ने कहा है कि ” केर ने ट्रम्प सत्ता पहले 100 दिन के दौरान अमेरिकी सीमाओं पर इस्लाम डर और नफरत की घटनाओं में 1,035 प्रतिशत वृद्धि दर्ज किया है। ” इस्लाम कथित भय और घृणा की घटनाओं पर नजर रखने वाले केर समूह के निदेशक कोरी सैलरी कहा कि ” इन घटनाओं जिन्हें हमें सूचना दी गई थी और राजा ने उन्हें ध्यान से समीक्षा की है, लगभग 50 प्रतिशत घटनाओं और शिकायतों को हम अस्वीकार कर दिया है।

” उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं के लिए छह मुस्लिम बहुल देशों के नागरिकों को अमेरिका में प्रवेश की अनुमति देने से मना कर दिया और अवैध आप्रवासियों के खिलाफ कृत्यों के उद्देश्य से दो झमलाना आदेशों पर ट्रम्प हस्ताक्षर महत्वपूर्ण कारण है ”। कोरी ने मुहर कहा कि ” मेरे मन में इस बात पर कोई संदेह नहीं हैकि ये बातें एक दूसरे से जुड़े हैं।

अमेरिकी अदालतों ने हालांकि इस यात्रा अवरोध को प्रतिबंधित कर दिया है लेकिन शुरुआती दिनों में अक्सर अमेरिकी एय‌रपोर्टस अराजकता जैसी स्थिति पैदा हो गई थी तथा उनके 7 मुस्लिम बहुल विदेशों में अमेरिका रवाना होने वाले यात्रियों को विमानों में सवार होने से रोक दिया गया था।

ट्रम्प ने अपने अभियान के दौरान यह वादा किया था कि सख्त सुरक्षा व्यवस्था के एक भाग के रूप में कुछ मुस्लिम बहुल देशों के नागरिकों के अमेरिका में प्रवेश को बेहद मुश्किल बना दिया जाएगा। उनके इस फैसले के कई यूरोपीय और एशियाई देशों ने निंदा की थी लेकिन यह भी एक अजीब संयोग हैकि सऊदी अरब और अन्य कुछ महत्वपूर्ण मुस्लिम देशों ने अमेरिका में मुसलमानों के प्रवेश पर ट्रम्प के अवरोध का समर्थन किया था।

TOPPOPULARRECENT