Sunday , August 20 2017
Home / Khaas Khabar / अमेरिकी चुनाव और नोट बंद होने के चलते निवेशकों के 6 लाख करोड़ की पूंजी डूबी

अमेरिकी चुनाव और नोट बंद होने के चलते निवेशकों के 6 लाख करोड़ की पूंजी डूबी

मुंबई: अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप की बढ़त और भारत सरकार का तरफ से 500 और एक हजार के नोट बंद करने की घोषणा के बाद बुधवार को बंबई शेयर बाजार में भारी गिरावट आई। आज बाजार खुलने कुछ की सेकेंडों के भीतर ही सेंसेक्स 1,689 अंक लुढ़क गया। इससे निवेशकों को 6 लाख करोड़ रुपए की पूंजी डूब गई।

हालांकि, सोने की मांग बढ़ी। गैर-नकदी उत्पाद के रूप में सॉवरेन गोल्ड बांड और स्वर्ण आधारित एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स में इजाफा हुआ। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स आज सुबह 26,251.38 अंक पर खुला और कुछ ही सेकेंडों के भीतर 1,689 अंक की जोरदार गिरावट के साथ 25,902.45 अंक के निचले स्तर पर पहुंच गया। सेंसेक्स के सभी 30 शेयर नुकसान में चल रहे थे।

वहीं नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी 541 अंक की गिरावट के साथ खुला। लगभग सभी वर्गों रीयल्टी, टिकाऊ उपभोक्ता सामान और वाहन कंपनियों के सूचकांक 10.78 प्रतिशत तक नीचे आ गए।

इसी तर्ज पर निफ्टी 541.30 अंक यानी 6.33 प्रतिशत के नुकसान से 8,002.25 अंक पर पहुंच गया। सरकार का कल काले धन के खिलाफ अभियान के तहत 500 और 1,000 रुपए के नोट को बंद करने की घोषणा कारोबार पर भारी असर पड़ा है। इसके अलावा अमेरिकी चुनाव में हेलेरी किलंटन पर डोनाल्ड ट्रंप की बढ़ से कारोबारी धारणा प्रभावित हुई।

 

TOPPOPULARRECENT