Sunday , August 20 2017
Home / International / अमेरिकी दबाव में इस्राईल को नस्ल भेदी बताने वाली रिपोर्ट को वापस लेने का आदेश

अमेरिकी दबाव में इस्राईल को नस्ल भेदी बताने वाली रिपोर्ट को वापस लेने का आदेश

लेबनानी टीवी चैनल अलमयादीन ने खबर प्रसारित की है कि संयुक्त राष्ट्र संघ ने अपने उस रिपोर्ट को वापस लेने का फैसला किया है जिसमें इज्राईल को एक नस्लप्रस्त देश कहा गया था। चैनल के मुताबिक, संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव एंटोनियो गुटेरेश ने पश्चिमी एशिया के सामाजिक एंव आर्थिक आयोग से अपने इस रिपोर्ट को वापस लेने का आदेश दिया है।

खबर के अनुसार, एंटोनियो गुटेरेश ने अमरीका और इस्राईल के दबाव के चलते इस रिपोर्ट को हटाने का आदेश दिया है। बता दें कि संयुक्त राष्ट्र संघ में पश्चिमी एशिया के आर्थिक एंव सामाजिक आयोग  यूएईएससीडब्ल्यूए ने बुधवार को अपनी एक रिपोर्ट दी थी। इस रिपोर्ट में यूएईएससीडब्ल्यूए ने कहा था कि इस्राईल एक नस्लभेदी अपराधी है और वो फिलिस्तीनियों के खिलाफ नस्लभेदी कार्यवायी करता है।

इस रिपोर्ट के प्रकाशित होने के बाद अमरीका ने संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव से कहा था कि वह इस रिपोर्ट को हटाने का आदेश दें। वहीं संयुक्त राष्ट्र संघ के की तरफ से इस रिपोर्ट को आयोग की वेबसाइट से हटाने के आदेश के बाद, पश्चिमी एशिया के आर्थिक एंव सामाजिक आयोग की कार्यकारी सचिव सीमा खलफ ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

उन्होंने अपने त्यागपत्र की वजह इस रिपोर्ट को वापस लेने के लिए दबाव बनाना बताया है। गौरतलब है कि इससे पहले कभी भी इस्राईल को किसी अंतरराष्ट्रीय संगठन या संस्था की ओर से औपचारित रूप से नस्लभेदी शासन नहीं कहा गया था।

दूसरी महासचिव ने इस रिपोर्ट को वापस लेने के अलावा हिज्बुल्लाह को निशस्त्र करने को भी कहा है। उन्होंने हिज्बुल्लाह और लेबनान के दूसरे गुटों से मांग की है कि वह सीरिया में जारी लड़ाई में भाग लेना बंद करें।

TOPPOPULARRECENT