Tuesday , May 30 2017
Home / test / अरनब गोस्वामी के चैनल में एनडीए सांसद राजीव चंद्रशेखर ने कर रखा है निवेश

अरनब गोस्वामी के चैनल में एनडीए सांसद राजीव चंद्रशेखर ने कर रखा है निवेश

राज्‍य सभा सांसद और केरल में एनडीए के उप-चेयरमैन राजीव चंद्रशेखर का नाम टीवी पत्रकार अरनब गोस्‍वामी की नए मीडिया कंपनी में सबसे बड़े इनवेस्‍टर के तौर पर सामने आया है। रिपब्लिक नाम के इस वेंचर कंपनी ने पिछले साल नवंबर महीनें में एक समाचार चैनल की अपलिंकिंग और डाउनलिंकिंग के लिए अप्‍लाई किया गया था। रिपब्लिक ए.आर.जी. आउटलियर मीडिया प्राइवेट लिमिटेड नाम की कंपनी का हिस्‍सा होगी।

दरअसल, अरनब गोस्‍वामी को बीते साल 19 नवंबर महीने में इस कंपनी का मैनेजिंग डायरेक्‍टर बनाया गया था। उसके एक दिन पहले ही उन्‍होंने बतौर एडिटर-इन-चीफ टाइम्‍स नाऊ को अलविदा कहा था। इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, चंद्रशेखर ने अपने मालिकाना हक वाली कंपनियों के जरिए एआरजी आउटलियर में 30 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश किया है। ए.आर.जी. आउटलियर में चंद्रशेखर की एशियानेट न्‍यूज ऑनलाइन प्राइवेट लिमिटेड के अलावा ए.आर.जी. मीडिया होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड, जिसमें गोस्‍वामी सह-मालिक हैं, प्रमुख निवेशकर्ता है।

रजिस्‍ट्रार ऑफ कंपनीज से मिली ताजा जानकारी के मुताबिक, नवंबर 2016 अंत तक गोस्‍वामी और उनकी पत्‍नी सम्‍यब्रता रे के स्वामित्व वाली ‘सार्क’ में कुल 14 व्‍यक्तियों तथा दूसरे कंपनियों ने निवेश कर रखा है। सार्क ने 24 नवंबर, 2016 तक एआरजी आउटलियर में विभिन्‍न निवेशों के जरिए 26 करोड़ रुपए का निवेश कर रखा था।

सार्क में सबसे बड़े निवेशकर्ता एरिन कैपिटल पार्टनर्स के रंजन रामदास पाई है, जिन्‍होंने कुल 57 करोड़ रुपए का निवेश कर रखा है। वहीं, एशियन हर्ट इंस्‍टीट्यूट के मालिक रमाकांत पांडा ने पांच करोड़ रुपए, जबकि भारत के सबसे सफल निवेशकर्ताओं में से एक हेमेंद्र कोठारी ने ढ़ाई करोड़ रुपए का निवेश किया है। इसके अलावा टी.वी.एस. टायर्स के आर. नरेश, शोभना रामचंद्रन, रेनासांस ज्‍वेलरी और एस.आर.एफ ट्रांजेक्‍शन होल्डिंग्‍स के मालिक निरंजन ने भी सार्क में निवेश किया है।

पिछले साल दिसंबर महीने में अरनब ने अपने नए वेंचर के नाम की घोषणा की थी। एक रिपोर्ट के मुताबिक, अरनब का नया चैनल 2017 की उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव से पहले शुरू हो जाएगा। गोस्वामी प्राइम टाइम डिबेट शो ‘द न्यूज ऑवर’ की वजह से उस समय चर्चा में आए जब चैनल की 60 फीसदी कमाई इस शो से होने लगी। अरनब का शो ‘द न्यूज ऑवर’ चैनल के लिए इतना जरूरी था जिसके बारे में एक वरिष्ठ प्रबंधक का कहना है कि चैनल के संपादकीय संसाधनों का 60 फीसदी ‘द न्‍यूज ऑवर के लिए इस्‍तेमाल किया जाता था।

गौरतलब है कि अरनब गोस्वामी ने अपने करियर की शुरूआत 1995 में कोलकाता से निकलने वाले दैनिक अखबार ‘द टेलीग्राफ’ से किया था। लेकिन अरनब टेलीग्राफ में बहुत दिनों तक नहीं रहे और साल 1995 में ही वो एनडीटीवी से जुड़ गए। फिर जब 1998 में एनडीटीवी का स्वतंत्र टीवी चैनल शुरू हुआ तो वे चैनल में प्रोग्राम प्रोड्यूसर के तौर पर काम किया। गोस्वामी ने 2006 में टाइम्स नाऊ के एडिटर-इन-चीफ बने।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT