Tuesday , October 24 2017
Home / Uttar Pradesh / अलर्ट रहें! आपके घर भी आ सकता है पार्सल बम

अलर्ट रहें! आपके घर भी आ सकता है पार्सल बम

अगर आपके घर किसी अनजान सख्श के नाम पर पार्सल आता है तो अलर्ट रहें। दहशतगर्द किसी भी शक्ल में आपका दरवाजा खटखटा सकता है। अगर किसी तरह का मुश्तबा पार्सल आता है तो उसकी तहक़ीक़ात जरूर कर लें। हाल के दिनों में बिहार में जदयू लीडर के घर पा

अगर आपके घर किसी अनजान सख्श के नाम पर पार्सल आता है तो अलर्ट रहें। दहशतगर्द किसी भी शक्ल में आपका दरवाजा खटखटा सकता है। अगर किसी तरह का मुश्तबा पार्सल आता है तो उसकी तहक़ीक़ात जरूर कर लें। हाल के दिनों में बिहार में जदयू लीडर के घर पार्सल बम धमाके की वाकिया ने डाक और कूरियर कंपनियों को कठघरे में खड़ा कर दिया है।

फिक्र इसलिए भी जायज है क्योंकि जमदेशपुर में डाक महकमा के पास अपना कोई स्कैनर नहीं है। डाक महकमा की चिट्ठियां रेलवे और एयरपोर्ट पर ही स्कैन हो पाती हैं, ऐसे में लोकल सतह पर भेजे गए पार्सल बम को पकड़ पाना मुश्किल होगा। शहर में दो दर्जन से अधिक कूरियर कंपनियां हैं, ज़्यादातर कूरियर कंपनियों के पास स्कैनर हैं, हालांकि नामीगिरामी कंपनियों के अफसर दावा करते हैं कि उनके पास स्कैनर है और वे पार्सल पैकेट की जांच जरूर करते हैं।

सारे पार्सल एयरपोर्ट और रेलवे से होकर गुजरते हैं, वहीं स्कैन करने की इंतेजाम है। बड़े शहरों में भी डाक महकमा के दफ्तरों में स्कैनर की निजाम है, लेकिन छोटे शहरों में स्कैनर की सहूलत नहीं दी गई है।
एन. सरकार, सीनियर डाक सुप्रीटेंडेंट, कोल्हान

हमारे यहां स्कैनर की निजाम है। तकरीबन सारी चिट्ठियों को एक बार स्कैनर से होकर गुजरना पड़ता है। मौजूदा वक़्त में कूरियर कंपनियों के लिए स्कैनर रखना बहुत ही जरूरी हो गया है।
सुमित कुमार, मैनेजर, डीटीडीसी कूरियर

पुलिस तमाम कूरियर कंपनियों की फेहरिस्त तैयार कर रही है। यह भी पता लगाया जाएगा कि किसी कंपनियों के पास स्कैनर है या नहीं। मुश्तबा आलात मिलने पर पुलिस को जरूर खबर करें।
शैलेंद्र कुमार सिन्हा, एसपी देही, सिंहभूम

TOPPOPULARRECENT