Sunday , October 22 2017
Home / Hyderabad News / अलहदा तेलंगाना पर राइलसीमा के हुक़ूक़ (अधिकार)का तय्क्कुन ज़रूरी

अलहदा तेलंगाना पर राइलसीमा के हुक़ूक़ (अधिकार)का तय्क्कुन ज़रूरी

रियास्ती वज़ीर छोटी आबपाशी (सिंचाई)टी जी वेंकटेश ने कहा कि ज़िमनी इंतिख़ाबात (उप चुनाव)के नताइज सामने आने के बाद अलहदा तेलंगाना रियासत की तशकील का ख़दशा बढ़ गया है। तक़सीम(बटवारे) से कब्ल राइलसीमा के हुक़ूक़ (अधिकार)पर तय्क्कुन दिया गया तो हम रियासत की तक़सीम(बटवारे) पर ग़ौर करने के लिए तैय्यार हैं।

ज़िमनी इंतिख़ाबात (उप चुनाव)के नताइज के बाद दिल्ली का रुख करने वाले रियास्ती वज़ीर मिस्टर जी वेंकटेश ने कहा कि नताइज कांग्रेस पार्टी के लिए तवक़्क़ो के बरअक्स(उलटा) हैं, इस लिए ये ख़दशा बढ़ गया है कि कहीं कांग्रेस पार्टी उजलत में कोई फ़ैसला ना करदे। हम मुत्तहदा आंधरा प्रदेश के हामी हैं,

अगर अलहदा तेलंगाना रियासत तशकील देना कांग्रेस की मजबूरी है तो इलाक़ा राइलसीमा को क्या दिया जा रहा है? वो हमें (राइलसीमा के क़ाइदीन को) पहले बता दिया जाय, ताकि ये बात हम अपने इलाक़ा के अवाम को बता सकें।

उन्हों ने कहा कि रियासत की तक़सीम(बटवारे)के फ़ैसला का वक़्त आगया है, सिवाए कांग्रेस के बाक़ी तमाम जमातों ने रियासत की तक़सीम(बटवारे) के हक़ में फ़ैसला किया है। हर पार्टी अपने मफ़ाद(फाइदे) को पेशे नज़र रख कर बात कर रही है। टी आर ऐस, तेलगूदेशम और तेलंगाना कांग्रेस क़ाइदीन की ताईद में बात की जा रही है और साथ ही सीमा।

आंधरा के अवाम से दुश्मनी ना होने का इद्दिआ(दावा) किया जा रहा है। उन्हों ने कहा कि 9 दिसंबर 2009-को जिस तरह रात में तेलंगाना का फ़ैसला किया गया था, इस को दुहराने की ज़रूरत नहीं है। अलहदा तेलंगाना रियासत तशकील देने पर टी आर उसको कांग्रेस में ज़म करने का इशारा पहले ही दे दिया गया है।

राइलसीमा के अवाम को अब तक दो बार धोका दिया गया है, अगर इस मर्तबा हमारे हुक़ूक़ (अधिकार)पर तवज्जा दी गई तो हम रियासत की तक़सीम(बटवारे) में तआवुन(मदद) के लिए तैय्यार हैं।

TOPPOPULARRECENT