Monday , October 23 2017
Home / Hyderabad News / अली ज़हीर का इंतिक़ाल,कल ज़यारत

अली ज़हीर का इंतिक़ाल,कल ज़यारत

हैदराबाद 18 मार्च :ये ख़बर हैदराबाद के इलमी-ओ-अदबी हलक़ों में बड़े रंज-ओ-मलाल के साथ पढ़ी जाएगी कि शहर हैदराबाद के मुनफ़रद लब-ओ-लहजा के शायर अली ज़हीर का इंतिक़ाल 16 मार्च को सुबह की अव्वलीन साअतों उन के मकान वाक़्ये बंजारा हिलज़ रोड नंबर 3 प

हैदराबाद 18 मार्च :ये ख़बर हैदराबाद के इलमी-ओ-अदबी हलक़ों में बड़े रंज-ओ-मलाल के साथ पढ़ी जाएगी कि शहर हैदराबाद के मुनफ़रद लब-ओ-लहजा के शायर अली ज़हीर का इंतिक़ाल 16 मार्च को सुबह की अव्वलीन साअतों उन के मकान वाक़्ये बंजारा हिलज़ रोड नंबर 3 पर हरकत क़लब बंद होजाने की वजह से हुआ ।

मरहूम हैदराबाद लिटरेरी फ़ोर्म के सदर भी थे और अपनी इलमी-ओ-अदबी तख़लीक़ात की बिना पर इंडो पाक के अदबी हलक़ों में जाने जाते थे । मरहूम का ताल्लुक़ हैदराबाद के अलमी घराने से था । अली ज़हीर ने अपनी हयात को उर्दू ज़बान की तरवीज-ओ-तरक़्क़ी के लिये वक़्फ़ कर रखा था हालाँकि पेशा के एतबार से वो सिविल इंजीनिय‌र थे ।

अली ज़हीर ने गंगा जमुनी तहज़ीब की बक़ा के लिये भी उर्दू अदब में बेशुमार कारनामे अंजाम दीए । वो हमेशा सैकूलर इक़दार की क़दर करते थे और उन्हों ने क़ुली क़ुतुब शाह अदबी सोसाइटी की बुनियाद भी उन्हें अग़राज़-ओ-मक़ासिद के तहत रखी थी जिस के बैनर तले हिन्दुस्तान के मुख़्तलिफ़ मुक़ामात पर कल हिंद मुशाविरों का इनइक़ाद किया ।

मीय‌त 8 साअत शाम बंजारा हिलज़ से उठाई गई । तदफ़ीन दायरा हज़रत मीर मुहम्मद मोमनऒ सुलतान शाही में अमल में आई । पसमानदगान में अहलिया के अलावा एक दुख़तर और एक फ़र्ज़ंद हैं ।मजलिस ज़यारत बरोज़ मंगल बा वक़्त 4 साअत अस्र बमुक़ाम इबादतखाना हुसैनी दारालशफ़ा में मुक़र्रर है । मज़ीद तफ़सीलात के लिये मरहूम के फ़र्ज़ंद सयद मुहम्मद ज़हीर से फ़ोन नंबर 09968332756 पर रब्त किया जा सकता है ।।

TOPPOPULARRECENT