Thursday , August 24 2017
Home / Islami Duniya / अलेप्पो के साथ खड़ा हुआ पेरिस, एफिल टॉवर की रोशनी गुल कर किया इज़हार

अलेप्पो के साथ खड़ा हुआ पेरिस, एफिल टॉवर की रोशनी गुल कर किया इज़हार

A man juggles with a stick on fire in front of the Eiffel tower with lights off, in Paris, on December 14, 2016, in support of the Syrian city of Aleppo. Shelling and air strikes sent terrified residents running through the streets of Aleppo on December 14, 2016 as diplomats strove to save a deal to evacuate the shrinking rebel-held districts of the city. / AFP PHOTO / PHILIPPE LOPEZ

अलेप्पो: सीरिया के शहर अलेप्पो के नागरिकों के साथ एकजुटता व्यक्त करने के लिये बुधवार शाम पेरिस के एफिल टॉवर की रोशनी बुझा दी गईं। गंभीर मानवीय संकट का सामना कर रहे अलेप्पो शहरी पलायन को मजबूर हैं।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

पेरिस की मेयर ऑनऐडाल जो कहते हैं कि एफिल टॉवर के हजारों लेक्ट्रिक लाइट्स को बुझा देना दुनिया भर में अग्रणी ढांचे के हवाले से एक प्रतीकात्मक कदम है, जिसका मक़सद एक बार फिर से विश्व समुदाय को इस ओर आकर्षित करना है कि अलेप्पो की आबादी को बचाने के लिए तेजी से आगे बढ़ने की जरूरत है।

The lights of the Eiffel Tower are exceptionally switched off in Paris, on December 14, 2016, in support of the Syrian city of Aleppo.
Shelling and air strikes sent terrified residents running through the streets of Aleppo on December 14, 2016 as diplomats strove to save a deal to evacuate the shrinking rebel-held districts of the city. / AFP PHOTO / PHILIPPE LOPEZ
A man takes a picture of the lights of the Eiffel Tower are exceptionally switched off in Paris, on December 14, 2016, in support of the Syrian city of Aleppo.
Shelling and air strikes sent terrified residents running through the streets of Aleppo on December 14, 2016 as diplomats strove to save a deal to evacuate the shrinking rebel-held districts of the city. / AFP PHOTO / PHILIPPE LOPEZ

दूसरी ओर एफिल टॉवर में काम करने वाले श्रमिकों की हड़ताल के कारण विश्वप्रसिद्ध टावर बुधवार दिन के समय में बंद कर दिया गया।
उल्लेखनीय है कि सीरिया के शहर अलेप्पो में सीरिया की सरकारी सेना और उसकी सहायक आतंकवादी सैन्य समूहों ने पिछले दिनों बर्बर कृत्यों के दौरान फायरिंग करके कम से कम 200 बच्चों और महिलाओं सहित निर्दोष नागरिकों को मौत की नींद सुला दिया।

TOPPOPULARRECENT