Tuesday , September 26 2017
Home / India / अल्पसंख्यकों को अन्य समुदायों के साथ बराबरी पर लाया जाना चाहिए: हामिद अंसारी

अल्पसंख्यकों को अन्य समुदायों के साथ बराबरी पर लाया जाना चाहिए: हामिद अंसारी

नई दिल्ली : उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने आज कहा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का विकास का नारा सबके साथ सबका विकास जभी पूरा होगा जब मुस्लिम समुदाय को भी अन्य समुदायों के साथ बराबरी पर लाया जाएगा | क्यूंकि मुस्लिम समाज, समाजिक विकास के मामले में अन्य समुदाय से काफी पीछे हैं|

उन्होंने मुस्लिम समाज से भी कहा कि मुसलमानों को पूरे हक़ के साथ सरकार को अपने कर्तव्यों और जिम्मेदारियों की याद दिलाने की जरूरत है| अंसारी ने कहा कि मुस्लिम समुदाय को आत्मविश्लेषण के साथ शिक्षा के क्षेत्र में बहुत ध्यान देने की ज़रूरत है क्यूंकि मुस्लिम बच्चों का स्कूल ड्रॉप आउट बड़े अनुपात में है |
उन्होंने कहा कि हमारे प्रधानमन्त्री ने सबके साथ सबका विकास पर ज़ोर दिया है इसके लिए सबको एक लाइन में खड़ा होना होगा | अगर कोई 10 गज पीछे है तो वह मुक़ाबला नहीं कर सकता | सबको एक लाइन में लाया जायेगा तभी देश तरक्की करेगा |

अंसारी यहाँ ‘तालीम-ओ-तरबियत’ नाम से एक कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थे | उन्होंने कहा कि मुसलमानों को अपने अधिकार की भीख नहीं मंगनी चाहिए बल्कि सरकार से पूरे अधिकार से अपना हक़ मांगना चाहिए | सरकार से जो मांगना है मांगिये आपका हक़ है | हुकूमत को ये ऐतराफ़ भी दिलाना है कि हुकूमत आपका हक़ देने में कोताही कर रही है, पहले भी की है और आज भी कर रही है |

उन्होंने कहा कि बहुत सी योजनायें बनायी गयीं लेकिन उनको सही से लागू नहीं किया गया है | उन्होंने शिक्षा के महत्व पर रौशनी डालते हुए कहा कि आज दुनिया तेज़ी से तरक्की कर रही है ऐसे में हर व्यक्ति का शिक्षित होना बहुत ज़रूरी है |

उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक समुदाय की प्राथमिक और बुनियादी शिक्षा पर बहुत ध्यान दिए जाने की ज़रुरत है क्यूंकि उनके यहाँ स्कूल ड्रॉप आउट काफी ज़्यादा है |  इसके साथ ही अल्पसंख्यक समुदाय के इंस्टिट्यूटशन को भी इस और ध्यान दिए जाने की ज़रूरत है कि उनके द्वारा समुदाय को शिक्षा प्रदान करने के लिए का क़दम उठाये जा रहे हैं |

इस मौके पर मौलाना आजाद राष्ट्रीय उर्दू विश्वविद्यालय के कुलपति जफर सारेशवाला ने शिक्षा के माध्यम से अल्पसंख्यकों के सशक्तिकरण के बारे में बात की और समुदाय के विकास के लिए वित्तीय साक्षरता पर जोर दिया। बीएसई के सीईओ आशीष चौहान ने अल्पसंख्यक समुदाय से कहा कि उन्हें अपने समावेशी विकास के लिए नई टेक्नोलॉजी को भी अपनाना चाहिए |

TOPPOPULARRECENT