Friday , October 20 2017
Home / Delhi News / अवामी शिकायत की सुनवाई के लिए नया तरीके कार

अवामी शिकायत की सुनवाई के लिए नया तरीके कार

दिल्ली के चीफ मिनिस्टर अरविंद कजरेवाल ने अपना पहला जनता दरबार अफ़रातफ़री की नज़र होजाने के बाद आज कहा कि वो ऐसे अवामी इजलास नहीं करेंगे और उनकी हुकूमत ऐसे नए रास्ते तलाश करेगी जहां अवाम ऑनलाइन, डाकिया मुक़र्रर किए जाने वाले मुक़ा

दिल्ली के चीफ मिनिस्टर अरविंद कजरेवाल ने अपना पहला जनता दरबार अफ़रातफ़री की नज़र होजाने के बाद आज कहा कि वो ऐसे अवामी इजलास नहीं करेंगे और उनकी हुकूमत ऐसे नए रास्ते तलाश करेगी जहां अवाम ऑनलाइन, डाकिया मुक़र्रर किए जाने वाले मुक़ामात के जरिया से अपनी शिकायात पेश कर सकेंगी।

उन्होंने कहा कि बाअज़ ऐसे भी लोग हैं जो सिर्फ़ चीफ मिनिस्टर से मुलाक़ात करना चाहते हैं तो में उनके लिए हफ़्ता में एक मर्तबा दो ता तीन घंटों तक मुलाक़ात के लिए दस्तयाब रहूँगा। लेकिन अवाम को अपनी शिकायात पहूँचाने के लिए मेरे पास आने की ज़रूरत नहीं है इस मक़सद के लिए दीगर ज़राए दस्तयाब किए जाएंगे।

कजरेवाल गुजिश्ता हफ़्ता पहले जनता दरबार में अफ़रातफ़री के सबब बीच‌ में बाहर चले जाने पर मजबूर होगए थे जब सैंकड़ों अफ़राद अपनी शिकायात दर्ज करने के लिए वहां जमा होगए थे। उन्होंने कहा कि उस रोज़ अवाम की कसीर तादाद जमा होगई थी। हम आज भी इजलास कर रहे हैं। अब हम एक तरीके कार बनारहे हैं जिसके ज़रिया अवाम ऑनलाइन पर अपनी शिकायात रवाना कर सकते हैं।

हम एक काल सेंटर भी क़ायम करेंगे। केजरीवाल ने मज़ीद कहा कि जो लोग लिख नहीं सकते वो इस काल सेंटर पर काल कर सकते हैं जहां उनकी शिकायत दर्ज करली जाएंगी। अवाम ज़रिया डाकिया फिर काम पर लगाए जाने वाले हेल्प बक्स के जरिया से अपनी शिकायात हम तक पहूँचा सकते हैं। ये तरीके कार आइन्दा दो तीन दिन में शुरू होजाएगा।

वाटर टेंकर और टन्डर माफिया से उनकी जान को ख़तरा से मुताल्लिक़ इंटलीजेंस ब्यूरो की वार्निंग के बारे में एक सवाल पर केजरीवाल ने जवाब दिया कि उनकी ज़िंदगी को कोई ख़तरा लाहक़ नहीं है बल्कि सारी सेक्योरिटी आम आदमी को दी जाये। केजरीवाल ने कहा कि चीफ मिनिस्टर्स की सेक्योरिटी कोई अहमियत नहीं है बल्कि सारे मुल्क के वे आई पीज़ को दी जाने वाली सेक्योरिटी आम आदमी को दी जाये।

TOPPOPULARRECENT