Thursday , September 21 2017
Home / AP/Telangana / असरी इंटरनेट टेक्नालोजी लोन का पायलट प्रोजेक्ट

असरी इंटरनेट टेक्नालोजी लोन का पायलट प्रोजेक्ट

हैदराबाद 25 मई: असरी इंटरनेट टेक्नोलोजी लोन तेलंगाना के किसी शहर से शुरू होगी या आंध्र प्रदेश का इंतेख़ाब अमल में आएगा? नेशनल इन्फार्मेटिक्स सेंटर की तरफ से गूगल की तैयार करदा लोन इंटरनेट टेक्नालोजी के पायलट प्रोजेक्ट के लिए रियासत के इंतेख़ाब का अमल जारी है।

बावसूक़ ज़राए के बमूजब रियासत आंध्र प्रदेश तेलंगाना या फिर महाराष्ट्रा में एनआईसी की तरफ से ये तजुर्बा किया जा सकता है। जारीया हफ़्ते के अवाख़िर या आइन्दा हफ़्ते के अवाइल में ये तजुर्बा मज़कूरा तीन रियासतों के किसी शहर में किया जा सकता है। लोन टेक्नालोजी का इस्तेमाल वाईफाई और दुसरे वायर के ज़रीये फ़राहम की जाने वाली इंटरनेट ख़िदमात का बेहतरीन मताबादल साबित होगी। तफ़सीलात के मुताबिक ग़ुबारा की शक्ल में फ़िज़ा में छोड़ी जाने वाली इस लोन टेक्नालोजी के ज़रीये शहर को इंटरनेट से मरबूत करने में आसानी पैदा होगी और ये एक ग़ुबारा शहर को इंटरनेट ख़िदमात की फ़राहमी के लिए काफ़ी होगा। पिछ्ले साल गूगल की तरफ से लोन टेक्नालोजी को मुतआरिफ़ करवाने के एलान के साथ ये कहा गया था कि इंटरनेट ख़िदमात की फ़राहमी में आने वाले इस इन्क़िलाब का तजुर्बाती बुनियादों पर आग़ाज़ हिंदुस्तान के किसी शहर से किया जाएगा और उम्मीद ज़ाहिर की गई थी कि ख़िदमात के आग़ाज़ के साथ ही दुनिया-भर में उसे वुसअत दी जाएगी।

गूगल की तरफ से लोन ख़िदमात के आंध्र प्रदेश के किसी शहर में शुरू किए जाने के इमकानात ज़्यादा नज़र आरहे हैं चूँकि सीईओ गूगल के ताल्लुक़ात आंध्र प्रदेश के बरसर-ए-इक़तिदार ख़ानदान से बहुत ज़्यादा क़रीबी हैं। साथ ही ये भी कहा जा रहा है कि तेलंगाना में गूगल कैम्पस मौजूद होने के सबब लोन ख़िदमात का तजुर्बा तोर पर आग़ाज़ तेलंगाना के किसी शहर में मुम्किन है जबकि नेशनल इंफॉर्मेटिक सेंटर जो कि क़ौमी इदारा है वो इस मक़सद के लिए महाराष्ट्रा के इंतेख़ाब के मुताल्लिक़ कोशां है। बताया जाता है कि इस तारीख़ी तजुर्बा के लिए शहर के इंतेख़ाब को क़तईयत देने के बाद ही गूगल की तरफ से तारीख़ का एलान किया जाएगा। लोन टेक्नालोजी का तजुर्बा कामयाब होने की सूरत में ये तजुर्बा इंटरनेट की दुनिया में इन्क़िलाबी तबदीलीयां लाएगा।शहरी इलाक़ों से फ़िज़ा में छोड़े जानेवाले ये गुब्बारे देही इलाक़ों में इंटरनेट ख़िदमात पहुंचाने में भी मुआविन साबित होंगे।

TOPPOPULARRECENT