Sunday , October 22 2017
Home / Bihar News / असलाह बंद मुजरिमों की करतूत, नौजवान की आंखें निकाली

असलाह बंद मुजरिमों की करतूत, नौजवान की आंखें निकाली

मुजरिमों ने ज़ुल्म की हदें पार कर धारदार हथियार से एक नौजवान के चेहरे से पूरी चमड़ी उतार ली। मुजरिमों का ज़ुल्म इसके बाद भी नहीं रुकी। उसकी दोनों आंखें निकाल ली। इसके बाद भी इंसानियत नहीं जगी, तो उसकी नाक और होठ भी काट लिये।

मुजरिमों ने ज़ुल्म की हदें पार कर धारदार हथियार से एक नौजवान के चेहरे से पूरी चमड़ी उतार ली। मुजरिमों का ज़ुल्म इसके बाद भी नहीं रुकी। उसकी दोनों आंखें निकाल ली। इसके बाद भी इंसानियत नहीं जगी, तो उसकी नाक और होठ भी काट लिये।

मामला वारिसनगर थाना इलाक़े का है। वारिसनगर पुलिस ने थाने के परोड़िया और हजपुरवा के दरमियान वाकेय महरा चौर वाकेय एक खेत से खून से लथपथ एक नौजवान को जुमा को बरामद कर अस्पताल में भरती कराया। हालात संगीन होने की वजह से उसे सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया। नौजवान के बेहोश में होने की वजह उसकी शिनाख्त नहीं हो पायी है। उसके गले और बायें हाथ पर चाकू मारने का निशान है।

पुलिस के मुताबिक जुमा की सुबह गांव के लोग जब घास के लिये चौर गये, तो नौजवान को खून से लथपथ देखा। उसके चेहरा से चमड़ी गायब थी। चेहरा सपाट हो गया। उसके नाक व ओट भी कटा था। गरदन और हाथ पर चाकू मारने के निशान हैं। लोगों ने इसकी इत्तिला पुलिस को दी। पुलिस ने फौरन नौजवान को सदर अस्पताल में इलाज के लिये भर्ती कराया। पुलिस ने दो चौकीदारों को नौजवान की देखभाल के लिये छोड़ दिया। इधर, नौवान की हालत को देखते हुये सदर अस्पताल के डॉक्टर ने पीएमसीएच रेफर कर दिया। खबर तक नौजवान का इलाज सदर अस्पताल में ही चल रहा था।

वाकिया की वजह आपसी दुश्मनी

सब इंस्पेक्टर सुरेंद्र प्रसाद राम के मुताबिक जाये हादसा पर ऐसा मालूम होता है कि मुजरिमों की तादाद ज़्यादा थी। उन्होंने कहा कि इब्तेदाई तौर पर आपसी दुश्मनी की वजह वाकिया को अंजाम देना मालूम हो रहा है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

मोहिउद्दीनपुर की मुखिया चंदा देवी का कहना है कि उस रास्ते से अहले सुबह से ही सब्जी कारोबारियों का आना-जाना लगा रहता है। यह मुमकिन है कि लोगों की आहट सुन कर मुजरिम भाग गये। नौजवान को मरा समझ यहीं छोड़ दिया।

TOPPOPULARRECENT