Friday , October 20 2017
Home / Crime / अस्पताल में तालिबा से डॉक्टर और दो सिपाहियों ने किया गैंगरेप

अस्पताल में तालिबा से डॉक्टर और दो सिपाहियों ने किया गैंगरेप

भिलाई के एक सरकारी अस्पताल में शरीक तालिब ए इल्म के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है। सुपेला के लालबहादुर शास्त्री अस्पताल में एक डॉक्टर और दो पुलिस वालों ने तालिबा के साथ गैंगरेप किया। पुलिस ने तीनों मुल्ज़िमों को गिरफ्तार कर ल

भिलाई के एक सरकारी अस्पताल में शरीक तालिब ए इल्म के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है। सुपेला के लालबहादुर शास्त्री अस्पताल में एक डॉक्टर और दो पुलिस वालों ने तालिबा के साथ गैंगरेप किया। पुलिस ने तीनों मुल्ज़िमों को गिरफ्तार कर लिया है। तीनों मुल्ज़िमों ने न सिर्फ अस्पताल में रेप किया बल्कि उसका अश्लील वीडियो भी बना लिया और ब्लैकमेल कर छह माह तक उसका रेप करते रहे।

शिकायत मिलने पर छावनी पुलिस ने तीनों मुल्ज़िमो को उनके ठिकानों से पकड लिया है। बताया जा रहा है कि अस्पताल में काम करने वाली नर्स ने मुतास्सिरा तालिबा को बेहोशी का इंजेक्शन लगाया था। उसके बाद ही तालिबा को रेप का शिकार बनाया गया।

पुलिस के मुतबैक 19 जून को बीएससी सेकेंड ईयर की तालिबा को सिर में चोट लगने के बाद शास्त्री अस्पताल में शरीक कराया गया था। रात में किसी नर्स ने उसे इंजेक्शन लगया तो वह बेहोश हो गई। उसके बाद वहां रात में तैनात एक डॉक्टर गौतम पंडित और दो पुलिस अहलकार चंद्रप्रकाश पांडेय और सौरभ भक्ता ने उसके साथ रेप किया।

एक दूसरी खबर के मुताबिक, तालिबा नाक के इलाज के लिए अस्पताल पहुंची थी, जबकि वहां डयूटी पर तैनात डॉक्टर गौतम पंडित ने उसे पीलिया से मुतास्सिर बताकर अस्पताल में शरीक कर लिया। इसके बाद गार्ड रूम में डॉक्टर गौतम और दो पुलिस अहलकार चंद्रप्रकाश और सौरभ ने तालिबा के साथ रेप की वारदात को अंजाम दिया।

इस वाकिया के बाद दोनों सिपाही तालीबा के पीछे पड गए। उसे बदनाम करने की धमकी देकर अक्सर रेप करने लगे। तालिबा को कालेज से घर लौटते वक्त वे जबरन रोक लेते थे और अपने साथ ले जाया करते थे।

मंगल के रोज़ भी तालिबा फीस जमा करने के लिए कालेज गई थी। लौटते वक्त फिर दोनों सिपाहियों ने उसे रास्ते में ही रोक लिया। उसे जबर्दस्ती इधर-उधर घुमाते रहे।

जिस्मानी ताल्लुकात बनाने के लिए दबाव डाला, तो परेशान तालिबा ने खुदकुशी करने की धमकी दे डाली। तब जाकर उन्होंने उसे छोडा। बाद में मुतास्सिरा ने मामले का खुलासा किया और पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। छावनी पुलिस ने तीनों मुल्ज़िमो को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

TOPPOPULARRECENT