Sunday , August 20 2017
Home / Hyderabad News / अक़लीयती स्कीमात पर मोअस्सर अमल आवरी को यक़ीनी बनाने की हिदायत

अक़लीयती स्कीमात पर मोअस्सर अमल आवरी को यक़ीनी बनाने की हिदायत

हुकूमत ने अक़लीयती बहबूद के ओहदेदारों को हिदायत दी कि वो स्कीमात पर मोअस्सर अमल आवरी को यक़ीनी बनाएँ। डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर मुहम्मद महमूद अली ने अक़लीयती बहबूद के ओहदेदारों से कहा कि वो ओवरसीज़ स्कॉलरशिप स्कीम, शहर और रंगा रेड्डी में एक हज़ार ग़रीब अफ़राद को आटो रिक्शा की फ़राहमी स्कीम पर जल्द अमल आवरी के इक़दामात करें।

उन्होंने अक़लीयतों को आटो रिक्शा फ़राहमी की स्कीम के बारे में रहनुमायाना ख़ुतूत तय करने के लिए सेक्रेट्री अक़लीयती बहबूद और अक़लीयती फाइनेंस कारपोरेशन के मैनेजिंग डायरेक्टर को हिदायत दी है।

डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर ने बताया कि हुकूमत ने ग़रीब अक़लीयतों की मआशी पसमांदगी के ख़ातमा के लिए इस स्कीम का आग़ाज़ किया है। चीफ़ मिनिस्टर की मंज़ूरी से शुरू की गई इस स्कीम का मक़सद शहर और रंगा रेड्डी में 1000 ग़रीब अक़लीयती ख़ानदानों को सतह ग़ुर्बत से ऊंचा उठाना है।

अक़लीयती फाइनेंस कारपोरेशन के ज़रीए इस स्कीम पर अमल आवरी की जाएगी और कारपोरेशन आटो की ख़रीदी के लिए सब्सीडी फ़राहम करेगा। उन्होंने कहा कि इस स्कीम की कामयाबी के बाद उसे दीगर अज़ला में भी तौसीअ दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि ग़रीब अक़लीयती तलबा को बैरूनी ममालिक की यूनीवर्सिटीज़ में आला तालीम के हुसूल के लिए ओवरसीज़ स्कॉलरशिप स्कीम का आग़ाज़ किया गया। बताया जाता है कि दरख़ास्त गुज़ार के लिए कम अज़ कम दसवीं जमात कामयाब होना लाज़िमी क़रार दिया जाएगा। इस के इलावा दरख़ास्त गुज़ार की सालाना आमदनी 2 लाख रुपये से कम होनी चाहीए और उस के पास ड्राइविंग लाईसैंस मौजूद हो।

TOPPOPULARRECENT