Sunday , October 22 2017
Home / World / ‘आंग सान सू की’ के पास रोहिंग्या मुसलमानों पर जारी हिंसा को रोकने का अंतिम मौका है- संयुक्त राष्ट्र

‘आंग सान सू की’ के पास रोहिंग्या मुसलमानों पर जारी हिंसा को रोकने का अंतिम मौका है- संयुक्त राष्ट्र

हांगकांग। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरस ने कहा कि म्यांमार की नेता आंग सान सू की के पास सेना की आक्रामक कार्रवाई को रोकने का ‘एक अंतिम अवसर’ है, जिसके कारण हजारों रोहिंग्या मुस्लिमों को बांग्लादेश भागने को मजबूर होना पड़ा है।

गुटेरेस ने कहा कि सू की के पास रोहिंग्या के खिलाफ अभियान को रोकने का एक अंतिम मौका है। उन्होंने कहा ‘मेरा मानना है कि अगर वह मौजूदा हालात को नहीं बदलती हैं, तो त्रासदी बेहद भयावह होगी और दुर्भाग्य से मुझे नहीं पता कि इसे भविष्य में कैसे बदला जा सकेगा?’

संरा महासचिव ने कहा कि रोहिंग्या लोगों को वापस घर लौटने की अनुमति दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह साफ है कि म्यांमार की सेना को देश में अभी भी ‘प्रमुखता’ प्राप्त है तथा रखाइन राज्य में जमीनी तौर पर जो किया जा रहा उसके लिए दवाब डाला जा रहा है।

नोबेल पुरस्कार विजेता सू की को रोहिंग्या के मुद्दे पर आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। वह न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा में भाग नहीं लेंगी, जो कल से शुरू होगी।

TOPPOPULARRECENT