Monday , October 23 2017
Home / Hyderabad News / आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के दरमयान झगड़े

आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के दरमयान झगड़े

एक मुत्तहदा रियासत आंध्र प्रदेश की तक़सीम के बाद अगरचे अब दो माह गुज़र चुके हैं और दो रियासतों का क़ियाम अमल में आचुका है जिस के बावजूद नई रियासतों तेलंगाना और आंध्र प्रदेश की हुकूमतों के दरमयान झगड़े का सिलसिला जारी है।

एक मुत्तहदा रियासत आंध्र प्रदेश की तक़सीम के बाद अगरचे अब दो माह गुज़र चुके हैं और दो रियासतों का क़ियाम अमल में आचुका है जिस के बावजूद नई रियासतों तेलंगाना और आंध्र प्रदेश की हुकूमतों के दरमयान झगड़े का सिलसिला जारी है।

एक रियासत दूसरी रियासत को जारहीयत पसंद क़रार दे रही है और ये अहम मसला हनूज़ हल तलब है। हुकूमत तेलंगाना को इस के बाज़ यकतरफ़ा फ़ैसलों पर अदालतों के इताब का सामना रहा लेकिन वो अपने इक़दामात से बाज़ आने के लिए हरगिज़ तैयार नहीं है।

हुकूमत आंध्र प्रदेश दोनों रियासतों के मुशतर्का गवर्नर ई एस एल नरसिम्हन को कई मसाइल और हुकूमत तेलंगाना के सख़्त इक़दामात पर बार बार याददाश्तें पेश करती रही है लेकिन हुकूमत तेलंगाना पर इस का कोई असर नहीं होरहा है।

हाल ही में मर्कज़ी वज़ीर एम वेंकया नायडू को दू रियासतों के दरमयान मुसालहत के लिए मदाख़िलत करना पड़ा। वेंकया नायडू ने आंध्र प्रदेश के चीफ़ मिनिस्टर चंद्रबाबू नायडू और तेलंगाना के चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव‌ से हैदराबाद में अलग अलग मुलाक़ात करते हुए मश्वरह दिया था कि वो तेलुगु अवाम के दरमयान नफ़रत ना फैलाईं बल्कि आंध्र प्रदेश तंज़ीम जदीद क़ानून का एहतेराम करें।

हुकूमत तेलंगाना की तरफ से आंध्र प्रदेश तंज़ीम जदीद क़ानून की वक़फे वक़फे से ख़िलाफ़ वरज़ीयों पर हुकूमत आंध्र प्रदेश ब्रहम है।
पानी की तक़सीम, फ़ीस रेिंबर्समेंट, एमसेट कौंसलिंग और दुसरे कई मसाइल पर दोनों रियासतों के माबैन इख़तिलाफ़ात थे और
आंध्रई क़ाइद आचार्य एन जी रंगा से मौसूम ज़रई यूनीवर्सिटी को अलाहिदा रियासत तेलंगाना के नज़रिया साज़ जिया शंकर से मौसूम किए जाने के बाद झगड़ों और इख़तिलाफ़ात में एक नई शिद्दत पैदा हुई जब आंध्र प्रदेश के वुज़रा ने इस इक़दाम पर एतेराज़ करते हुए गवर्नर को याददाश्त पेश की।

TOPPOPULARRECENT