Saturday , October 21 2017
Home / Hyderabad News / आंध्र प्रदेश में तरक़्क़ी, तेलंगाना की मर्हूने मिन्नत

आंध्र प्रदेश में तरक़्क़ी, तेलंगाना की मर्हूने मिन्नत

वज़ीर इन्फ़ार्मेशन टेक्नोलॉजी के टी रामा राव ने कहा कि आंध्र प्रदेश में तरक़्क़ी दरअसल तेलंगाना की मर्हूने मिन्नत है, अगर मुत्तहदा रियासत आंध्र प्रदेश बरक़रार रहती तो आंध्र प्रदेश में तरक़्क़ी मुम्किन नहीं थी।

दो नई रियास्तों की तशकील के बाद से आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में तरक़्क़ी के एक नए दौर का आग़ाज़ हुआ है। के टी रामा राव आज हल्क़ा असेंबली उप्पल के पार्टी कारकुनों के इजलास से ख़िताब कर रहे थे।

उन्होंने अलाहिदा तेलंगाना की मुख़ालिफ़त करने पर सीमा आंध्र क़ाइदीन को तन्क़ीद का निशाना बनाया और कहा कि तहरीक के दौरान सीमा आंध्र क़ाइदीन कह रहे थे कि रियासत की तक़सीम से दोनों रियास्तें पसमांदा हो जाएंगी।

के टी आर ने कहा कि आज आंध्र प्रदेश में जो कुछ भी तरक़्क़ी हो रही है वो तेलंगाना की मर्हूने मिन्नत है। अगर रियासत तक़सीम ना होती तो आज आंध्र प्रदेश में ख़ुशहाली का दौर शुरू ना होता।

डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर के सिरी हरी, रियासती वज़ीर महेंद्र रेड्डी और पार्टी के दीगर क़ाइदीन ने इस इजलास में शिरकत की।

वज़ीर ट्रांसपोर्ट महेंद्र रेड्डी ने अवाम से अपील की कि वो मुजव्वज़ा इंतिख़ाबात में कांग्रेस और तेलुगु देशम को शिकस्त से दो-चार करें।

TOPPOPULARRECENT