Tuesday , October 24 2017
Home / Hyderabad News / आंध्र प्रदेश में नए दारुल हुकूमत की तामीर के लिए हुसूल अराज़ी का आज से आग़ाज़

आंध्र प्रदेश में नए दारुल हुकूमत की तामीर के लिए हुसूल अराज़ी का आज से आग़ाज़

हुकूमत आंध्र प्रदेश ने ज़िला गुंटूर और शहर विजयवाड़ा के दरमयान दरयाए कृष्णा के जुनूब में दरिया रुख़ सरसब्ज़-ओ-शादाब नया दारुल हुकूमत तामीर करने के लिए अराज़ी जमा ( हासिल) करने के लिए अपनी नई पालिसी का एलान कीया है जिस के तहत इस मक़सद के ल

हुकूमत आंध्र प्रदेश ने ज़िला गुंटूर और शहर विजयवाड़ा के दरमयान दरयाए कृष्णा के जुनूब में दरिया रुख़ सरसब्ज़-ओ-शादाब नया दारुल हुकूमत तामीर करने के लिए अराज़ी जमा ( हासिल) करने के लिए अपनी नई पालिसी का एलान कीया है जिस के तहत इस मक़सद के लिए 30,000 एकड़ अराज़ी हासिल की जाएगी।

आंध्र प्रदेश के चीफ़ मिनिस्टर एन चंद्रबाबू नायडू ने अराज़ी मजतमा करने की नई पालिसी का एलान करते हुए कहा कि दारुल हुकूमत की तामीर के लिए अराज़ी मजतमा करने के अमल का 9 दिसंबर मंगल से बाज़ाबता आग़ाज़ होगा। 20 देहातों में 22,045 किसान आराज़ीयात देने के लिए पहले ही अपनी आमादगी ज़ाहिर करचुके हैं।

उन्होंने कहा कि बैयकवक़त तसफ़ीया के तौर पर किसानो को कर्ज़ों के बोझ से राहत दिलाने फी कस 1.5 लाख रुपये की अदायगी के लिए हुकूमत की तरफ़ से फ़िलफ़ौर 200 करोड़ रुपये जारी किए जा रहे हैं।चीफ़ मिनिस्टर ने प्रेस कांफ्रेंस से ख़िताब के दौरान कहा कि नए दारुल हुकूमत के लिए अपनी आराज़ीयात देने वाले किसानों को बेपनाह फ़वाइद हासिल होंगे क्युंकि में वादा कररहा हूँ कि हर किसी के साथ इंसाफ़ किया जाएगा।

सारे मुल्क में अराज़ी के हुसूल का ये सब से बेहतरीन पैकेज साबित होगा और हम आलमी मयार का दरुल हुकूमत तामीर करेंगे जिस के लिए हुकूमत सिंगापुर मास्टर प्लान तैयार करेगी। चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि ख़ुशक आराज़ीयात के मालिक किसानों को उन से हासिल की जाने वाली फ़ी एकड़ अराज़ी पर हुकूमत आंध्र प्रदेश की तरफ से 1000 गज़ पर मुश्तमिल रिहायशी प्लाट और 200 मुरब्बा गज़ पर मुश्तमिल तिजारती प्लाट दिया जाएगा।

तरीके ज़मुरा में शामिल अराज़ी के मालकीयन फ़ी एकड़ अराज़ी के हुसूल के मुआवज़ा के तौर पर 1000मुरब्बा गज़ रिहायशी प्लाट और 300मुरब्बा गज़ तिजारती प्लाट दिया जाएगा।

चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि दो ( तक़सीम शूदा रियासत का) दारुल हुकूमत तामीर करते हुए अफ़सोस तो होरहा है लेकिन हम ख़ुशनसीब हैंके हमें ये मौक़ा हासिल हुआ है। मुझ पर ख़ुदा की मेहरबानी है और मुझे यक़ीन हैके इस मक़सद के लिए दरकार माली वसाइल भी मयस्सर हौजएं गे।

चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि उनकी हुकूमत इन तमाम ख़ानदानों को मुफ़्त तिब्बी ख़िदमात और मुफ़्त तिब्बी तालीम फ़राहम करेगी। महात्मा गांधी क़ौमी देही ज़मानत रोज़गार स्कीम के तहत साल के 365 दिन बा उजरत मुलाज़मत फ़राहम करेगी।उम्र रसीदा अफ़राद को रिहायश और ग़िज़ा की फ़राहमी के लिए बैत उलमामरीन और एन टी आर कैंटीन क़ायम की जाएंगी। नौजवानों को ख़ुद रोज़गार बनाने की किस 25 लाख रुपये के बिला सूदी क़र्ज़ दिए जाऐंगे।

TOPPOPULARRECENT