Thursday , October 19 2017
Home / India / आई आई टी में रहमानी 30 के स्टुडंट‌ की एक मर्तबा फिर शानदार कामयाबी

आई आई टी में रहमानी 30 के स्टुडंट‌ की एक मर्तबा फिर शानदार कामयाबी

* कुल हिंद सतह पर 7 वीधार्थीयों का शानदार रेंक , शुमाली हिंद के तलबा के लिए इसी साल से एम एस एज्युकेशन एकेड्मी और रहमानी 30 कि सहायता के साथ आई आई टी कोचिंग कि शानदार पैमाने पर शुरुआत‌

* कुल हिंद सतह पर 7 वीधार्थीयों का शानदार रेंक , शुमाली हिंद के तलबा के लिए इसी साल से एम एस एज्युकेशन एकेड्मी और रहमानी 30 कि सहायता के साथ आई आई टी कोचिंग कि शानदार पैमाने पर शुरुआत‌
पटना । आई आई टी ( जे ई ई ) 2012 का रिज़ल्ट आगया है । रहमानी 30 के स्टुडंटों ने एक मर्तबा फिर शानदार कारकर्दगी का मुज़ाहरा किया है , इस मर्तबा भी रहमानी 30 के स्टुडंट हिंदूस्तान के अलग अलग‌ सैंटरों पर आई आई टी ( जे ई ई ) के मुक़ाबला जाती इम्तेहान में बैठे और 7 स्टुडंट शानदार रेंक से कामयाब हुए ,

कामयाब स्टुडंटों के नाम ये हैं : बाशमाख़ यज़ीद औरंगाबाद महाराष्ट्रा , मुहम्मद नदीम अख़तर , फैसल सैफी , मुहम्मद उसमान , शावक मुस्तफ़ा , मुहम्मद मुबश्शिर इमाम पटना , मुहम्मद तहसीन आलम ।

रहमानी 30 की लगातार ये चौथे साल कामयाबी है , जिस में रहमानी 30 के स्टुडंटों ने शानदार कामयाबी का मुज़ाहरा किया है इस से पहले 2008 में शानदार कामयाबी हासिल करते हुए दस के दस तमाम तलबा ने कामयाबी दर्ज कराई थी । जो रहमानी 30 का पहला साल था इस के बाद से कामयाबी का लगातार सिलसिला जारी है और रहमानी 30 हर साल मुस्लिम स्टुडंटों को इंजिनियर‌ और साईंसदाँ बनाने में लगा हुवा है जो नतीजा है रहमानी 30 के बानी हज़रत मौलाना मुहम्मद वली साहिब‌ रहमानी , एकेड्मिक निगरां जनाब अभ्यानंद जी डी जी पी बिहार और रहमानी 30 के काबलीयत वालें मेहनती टीचर‌ और मुख़लिस मुंतज़मीन की काविशों और कोशिशों का नतीजा है ।

याद रहे रहमानी 30 वो अकिली संस्था है जो मुस्लिम स्टुडंटों को चुन‌ कर के मुफ़्त आई आई टी ( जे ई ई ) की तालीम-ओ-तरबियत करता है और लाखों रुपया खर्च‌ कर के एसे आई आई टी ( जे ई ई ) के मुक़ाबला जाती इम्तेहान में कामयाब कराता है इस तरह वो हर साल मुस्लिम स्टुडंटों के इंजीनियर‌ और साईंसदाँ बनने का रास्ता आसान‌ करता है ।

सच्चर कमेटी की रिपोर्ट के बाद ख़ानक़ाह रहमानी मोँगीर के सज्जादा नशीन मौलाना मुहम्मद वली रहमानी ने मुस्लिम स्टुडंटों को उच्च‌ तालीमी मैदान में बडी कामयाबी दिलाने के लिये पटना में रहमानी 30 क़ायम किया था जिस का दायरा आहिस्ता आहिस्ता पूरे मुल्क में फैलता जा रहा है ।

सच्चर कमेटी रिपोर्ट में तालीमी लिहाज़ से मुस‌लमानों के बिछ्डे पन‌ को दलितों से भी खराब‌ बताया था । उसी फ़िक्र को सामने रखते हुए एम एस एज्युकेशन एकेड्मी और रहमानी 30 कि मदद से शुमाली हिंद के 30 स्टुडंटों को मुफ़्त आई आई टी ( जे ई ई ) की तालीम दी जा रही है ।

तफ़सीलात के लिये 9248007022 पर संपर्क‌ करें ।

TOPPOPULARRECENT