Friday , October 20 2017
Home / India / आई ए एस ओहदेदार प्रदीप शर्मा की ज़मानत मंज़ूर

आई ए एस ओहदेदार प्रदीप शर्मा की ज़मानत मंज़ूर

नई दिल्ली १४ दिसम्बर: (पी टी आई) गुजरात के मुतनाज़ा आई ए एस ओहदेदार प्रदीप शर्मा जो ज़िला कुछ की सरकारी अराज़ी बाअज़ ख़ानगी कंपनीयों को गै़रक़ानूनी तौर पर अलॉट करने के सिलसिला में गिरफ़्तार किए गए थे, आज सुप्रीम कोर्ट से ज़मानत की मंज़ूर

नई दिल्ली १४ दिसम्बर: (पी टी आई) गुजरात के मुतनाज़ा आई ए एस ओहदेदार प्रदीप शर्मा जो ज़िला कुछ की सरकारी अराज़ी बाअज़ ख़ानगी कंपनीयों को गै़रक़ानूनी तौर पर अलॉट करने के सिलसिला में गिरफ़्तार किए गए थे, आज सुप्रीम कोर्ट से ज़मानत की मंज़ूरी हासिल करने में कामयाब हो गये।

जस्टिस आफ़ताब आलम की ज़ेर-ए-क़ियादत एक बंच ने उन की ज़मानत पर रिहाई की मंज़ूरी दे दी। ताहम शर्त आइद की कि वो हर पैर के दिन रियास्ती सरकारी ओहदेदारों के पास हाज़िरी देंगी। अदालत ने रियास्ती हुकूमत को इजाज़त दी कि इन की तस्वीरें इमीग्रेशन ओहदेदारों में गशत करवाई जाएं ताकि उन्हें बैरून-ए-मुल्क परवाज़ करने से रोका जा सके।

अदालत ने ये भी कि इक्का 1984 बीच के आ:य ए ऐस ओहदेदार का पासपोर्ट जारी नहीं किया जाएगा जब तक कि इन के ख़िलाफ़ जारी तमाम मुक़द्दमात का फ़ैसला ना हो जाये। अदालत ने गुजरात हाइकोर्ट में उन्हें ज़मानत मंज़ूर करने से इनकार के ख़िलाफ़ उन की दरख़ास्त पर अहकाम जारी करते हुए कहा कि इन की ज़मानत पर मशरूत रिहाई मंज़ूर की जाती है।

प्रदीप शर्मा गै़रक़ानूनी अराज़ी अलाटमैंट में उन के किरदार और बे क़ाईदगियों के इर्तिकाब के सिलसिला में गुज़शता 16 माह से जेल में हैं। यू एन् ए ने नरेंद्र मोदी हुकूमत पर इल्ज़ाम आइद किया है कि इन के छोटे भाई कुलदीप शर्मा सीनीयर आई पी ऐस ओहदेदार ने 2002-ए- के गोधरा फ़सादाद के बाद से मोदी की मुबय्यना ग़लत कारीयों को बेनकाब किया है, इस लिए उन्हें निशाना बनाया जा रहा है।

TOPPOPULARRECENT