Saturday , October 21 2017
Home / Hyderabad News / आज़मीने हज के मज़ीद दो क़ाफ़िलों की रवानगी , हज कैंप में तलबीयह की गूंज

आज़मीने हज के मज़ीद दो क़ाफ़िलों की रवानगी , हज कैंप में तलबीयह की गूंज

रियास्ती हज कमेटी के ज़रीए हज्जे बैतुल्लाह को रवाना होने वाले आज़मीन के आज दो क़ाफ़िले जद्दा के लिए रवाना हुए। दोपहर 2 बज कर 55 मिनट पर सऊदी एयर लाइंस की चार्टर्ड फ़्लाईट से पहला क़ाफ़िला रवाना हुआ जिस में 350 आज़मीन मौजूद थे जबकि रात

रियास्ती हज कमेटी के ज़रीए हज्जे बैतुल्लाह को रवाना होने वाले आज़मीन के आज दो क़ाफ़िले जद्दा के लिए रवाना हुए। दोपहर 2 बज कर 55 मिनट पर सऊदी एयर लाइंस की चार्टर्ड फ़्लाईट से पहला क़ाफ़िला रवाना हुआ जिस में 350 आज़मीन मौजूद थे जबकि रात 11 बजकर 55 मिनट पर 300 आज़मीन पर मुश्तमिल दूसरे क़ाफ़िला ने जद्दा के लिए उड़ान भरी।

इस तरह अब तक रियास्ती हज कमेटी से 1244 आज़मीन जद्दा के लिए रवाना हो गए। हज कमेटी से मजमूई तौर पर 8000 आज़मीन फ़रीज़ा हज के लिए रवाना होंगे। कल रात जुमला 594 आज़मीन रवाना हुए थे। सेक्रेट्री अक़लीयती बहबूद अहमद नदीम ने आज दोपहर आज़मीने हज के पहले क़ाफ़िला को झंडी दिखाया और ख़ुसूसी बसों को हज हाउज़ से रवाना किया। तलबीयह की गूंज में आज़मीने हज के क़ाफ़िले आर टी सी की ख़ुसूसी बसों से हैदराबाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंचे।

हज हाउज़ में आज़मीन के रिश्तेदारों और दोस्त अहबाब की कसीर तादाद मौजूद थी जिन्हों ने दुआओं की दरख़ास्त के साथ आज़मीन को विदा किया। हज हाउज़ और शम्साबाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर आज़मीने हज की रहनुमाई के लिए हज कमेटी के ओहदेदारों के इलावा कस़्टम़्स और जी एम आर के ओहदेदार मौजूद थे चूँकि आज़मीने हज ने तमाम ज़रूरी ऊमूर की तकमील हज हाउज़ में मुकम्मल करली थी लिहाज़ा वो बाआसानी तैयारा में सवार हो गए।

बताया जाता है कि कल रात आज़मीने हज के हैदराबाद से रवाना हुए दो क़ाफ़िले सुबह की अव्वलीन साअतों में जद्दा पहूंच गए। वहां से आज़मीन सीधे मक्का मुकर्रमा रवाना हुए और उमरा अदा किया। मक्का से मौसूला इत्तिलाआत के मुताबिक़ आंध्र प्रदेश के तमाम आज़मीने हज ख़ैरीयत से हैं।

हज हाउज़ से कल 27 सितंबर को आज़मीने हज के दो क़ाफ़िले जद्दा के लिए परवाज़ करेंगे। पहली परवाज़ दोपहर 2 बजकर 55 मिनट पर रहेगी जबकि दूसरी परवाज़ रात 9 बजकर 55 मिनट पर रहेगी। हज हाउज़ में हज कमेटी के ओहदेदार इंतेज़ामात की रास्त निगरानी कर रहे हैं जबकि वज़ीरे अक़लीयती बहबूद मुहम्मद अहमद उल्लाह ओहदेदारों से मुसलसल रब्त में हैं।

स्पेशल ऑफीसर प्रोफ़ेसर एस ए शकूर ने सेंट्रल पावर डिस्ट्रीब्यूशन कारपोरेशन के आला ओहदेदारों से बात-चीत की और हज कैंप के दौरान हज हाउज़ में बिला वक़्फा बर्क़ी की सरब्राही को यक़ीनी बनाने पर ज़ोर दिया।

TOPPOPULARRECENT