Thursday , October 19 2017
Home / Islami Duniya / आज़मीन-ए-हज-ओ-उमरा की तादाद में ज़बरदस्त इज़ाफ़ा

आज़मीन-ए-हज-ओ-उमरा की तादाद में ज़बरदस्त इज़ाफ़ा

दुबई, 20 फरवरी: ( पी टी आई ) सऊदी अरब में आज़मीन-ए-हज-ओ-उमरा के लिए बेहतर से बेहतर सहूलतें फ़राहम की जा रही हैं । सऊदी हुकूमत ने ख़ादिम हरमैन शरीफ़ैन शाह अबदुल्लाह बिन अबदुलअज़ीज़ की रास्त निगरानी में अपने इंफ्रास्ट्रक्चर शोबा में बड़े पैमा

दुबई, 20 फरवरी: ( पी टी आई ) सऊदी अरब में आज़मीन-ए-हज-ओ-उमरा के लिए बेहतर से बेहतर सहूलतें फ़राहम की जा रही हैं । सऊदी हुकूमत ने ख़ादिम हरमैन शरीफ़ैन शाह अबदुल्लाह बिन अबदुलअज़ीज़ की रास्त निगरानी में अपने इंफ्रास्ट्रक्चर शोबा में बड़े पैमाने पर सरमायाकारी की है ।

मक्का मुअज़्ज़मा और मदीना मुनव्वरा को आने वाले आज़मीन-ए-हज और उमरा की तादाद में ज़बरदस्त इज़ाफ़ा हो रहा है और इसके नतीजा में हुकूमत सऊदी अरब को अक़्ता आलिम ( पूरी दुनिया) से आने वाले आज़मीन से गुज़शता साल 16.5बिलीयन अमेरीकी डालर की आमदनी हुई थी ।

सऊदी अरब के सनअती तख़मीना के मुताबिक़ हुकूमत सऊदी अरब ने सयाहत को फ़रोग़ देने के लिए कई मंसूबे बनाए हैं । आज़मीन-ए-हज और उमरा के लिए बेहतर इंतेज़ामात करने अंदरून-ए-मुल्क मजमूई पैदावार का तक़रीबन तीन फ़ीसद हिस्सा मुख़तस किया गया है।

महकमा सयाहत के ओहदेदारों के मुताबिक़ दुनिया भर से आने वाले फ़र्ज़ंद इन तौहीद की सऊदी अरब में आमद से साल 2012 में हुकूमत सऊदी अरब को 16.5 बिलीयन अमेरीकी डालर का फ़ायदा हुआ है । गुज़शता साल के मुक़ाबिल इस में 10 फ़ीसद का इज़ाफ़ा रिकार्ड किया गया ।

जी सी सी में पाए जाने वाले रिकार्ड के मुताबिक़ सऊदी अरब को बैन-उल-अक़वामी सय्याहों की कसीर तादाद आती है । जी सी सी हास्पिटिलीटी इंडस्ट्री रिपोर्ट (hospitality industry report) अक्टूबर 2012 के मुताबिक़ सय्याहों की तादाद में इज़ाफ़ा 46 फ़ीसद है । सऊदी हुकूमत ने आज़मीन-ए-हज और उमरा के लिए जद्दा एयरपोर्ट प्रोजेक्ट को 7बिलीयन अमेरीकी डालर से मज़ीद तरक़्क़ी देने का फ़ैसला किया है ।

इस एयरपोर्ट पर आइन्दा दो दहों के दौरान 80 मिलीयन मुसाफ़िरों की आमद‍ ओ‍ रफ़्त की तवक़्क़ो है । बहरे अरब के बंदरगाही शहर जद्दा जो मक्का मुअज़्ज़मा और मदीना मुनव्वरा का गेटवे ( gateway) क़रार दिया जाता है मौसिम-ए-गर्मा में अंदरून-ए-मुल्क सयाहत के लिए पसंदीदा मुक़ाम है ।

जद्दा तिजारती नौईयत से भी एक अहम मर्कज़ है। इसके इलावा दार-उल-हकूमत रियाद में भी ताजरीन और तिजारत के शोबा से वाबस्ता अफ़राद की आमद में भी बेतहाशा इज़ाफ़ा हुआ है । सऊदी हुकूमत ने अपने अहम इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट ख़ासकर एयरपोर्ट्स की तौसीअ ,रेलवेज़ ,सड़कों की तामीर पर ख़ुसूसी तवज्जा दी है ।

जारीया साल से लेकर 2022 के दरमियान हुकूमत सऊदी अरब इन प्रोजेक्ट्स के लिए तक़रीबन 80बिलीयन अमेरीकी डालर ख़र्च करेगी । आने वाले बरसों में आज़मीन-ए-हज और उमरा की तादाद में मज़ीद इज़ाफ़ा की तवक़्क़ो के पेशे नज़र शाह अबदुल्लाह बिन अबदुलअज़ीज़ ने बेहतरीन इंतेज़ामात की हिदायत दी है ।

TOPPOPULARRECENT