Thursday , October 19 2017
Home / Bihar News / आज शाम तक पानी निकालो नहीं तो होगी कार्रवाई : वजीरे आला

आज शाम तक पानी निकालो नहीं तो होगी कार्रवाई : वजीरे आला

वजीरे आला जीतन राम मांझी पटना में छह दिनों से जारी पानी के जमाव को संजीदगी से लिया है । उन्होंने मंगल को शहर तरक़्क़ी महकमा, आफत इंतेजामिया महकमा, सेहत महकमा समेत एक दर्जन से ज़्यादा महकमा के प्रिन्सिपल सेक्रेटरी के साथ बैठक की और वार

वजीरे आला जीतन राम मांझी पटना में छह दिनों से जारी पानी के जमाव को संजीदगी से लिया है । उन्होंने मंगल को शहर तरक़्क़ी महकमा, आफत इंतेजामिया महकमा, सेहत महकमा समेत एक दर्जन से ज़्यादा महकमा के प्रिन्सिपल सेक्रेटरी के साथ बैठक की और वार्निंग दी कि अगर बुध की शाम तक पूरा शहर पानी की जमाव से आज़ाद नहीं हुआ, तो मुतल्लिक़ अफसरों पर कार्रवाई की जायेगी।

ज़ायजा बैठक के बाद वजीरे आल ने कहा कि हुकूमत पटना से पानी के जमाव खत्म के फी पूरी तरह संगीन है। अफसरों ने काम नहीं किया है। चार-पांच साल पहले कॉर्पोरेशन को मशीन खरीदने के लिए 27 करोड़ रुपये दिये गये थे। मशीनों की खरीद नहीं हुई। संप हाउस चालू नहीं कर सके। इसकी वजह पटना में जमे बारिश के पानी को पुनपुन नदी में गिराने की मंसूबा लटक गयी है। वजीरे आला ने अफसरों को नवंबर से ही अगले बरसात के लिए तैयारी शुरू करने की हिदायत दिया और कहा कि इसमें नाकामयाब रहने पर अफसरों पर कार्रवाई की जायेगी।

सैलाब को लेकर उन्होंने कहा कि बुध की सुबह मैं मुतासीर जिलों के डीएम से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये जायजा लूंगा। जहां जरूरत हुई, वहां फौरन मदद काम शुरू किया जायेगा। अफसरों के साथ जायजा के बाद शाम में मरकज़ी दाखला वज़ीर राजनाथ सिंह से बात करूंगा और रियासत की ताजा हालात के बारे में जानकारी कराते हुए खुसुसि मदद फराहम कराने की दरख्वास्त करूंगा। वजीरे आला ने बताया कि पीर को जब मैं मोतिहारी में इंतिख़ाब तशहीर के लिए गया था, तो उस वक़्त मरकज़ी दाखला वज़ीर का फोन आया था। उनकी फिक्र रेल हादसा को लेकर थी। वह जानना चाह रहे थे कि कहीं इस वाकिया में उग्रवादियों का हाथ तो नहीं। लेकिन, मैंने उन्हें बताया कि रेलवे की गलती से यह हादसा हुई है। उसी दौरान दाखला वज़ीर ने सैलाब की भी जानकारी ली। मैंने बताया कि नालंदा जिले में जान-माल की नुकसान हुई है। दीगर जगहों पर पानी है, पानी निकलने पर फौरन मदद काम चलायेंगे।

TOPPOPULARRECENT