Friday , October 20 2017
Home / Khaas Khabar / आडवाणी के इस्तीफे का पोस्‍टर दीवारों पर

आडवाणी के इस्तीफे का पोस्‍टर दीवारों पर

नई दिल्‍ली : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता लालकृष्ण आडवाणी के सभी ओहदों से इस्तीफा देने के बाद पार्टी में कोहराम मच गया। बीजेपी नेता आडवाणी को मनाने और इस्‍तीफे को वापस लेने की मांग पर जुटे हैं। इसी बीच आडवाणी के इस्तीफे की चिट्

नई दिल्‍ली : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता लालकृष्ण आडवाणी के सभी ओहदों से इस्तीफा देने के बाद पार्टी में कोहराम मच गया। बीजेपी नेता आडवाणी को मनाने और इस्‍तीफे को वापस लेने की मांग पर जुटे हैं। इसी बीच आडवाणी के इस्तीफे की चिट्ठी को दिल्ली के लुटियंस जोन में पोस्टर के आकार में चिपका दिया गया है।

कांग्रेस को बैठे बिठाए एक सुनहरा मुद्दा मिल गया है और पार्टी चुटकी लेने में पीछे नहीं है। आडवाणी के इस्तीफे की चिट्ठी का पोस्‍टर इस जोन के सड़कों के किनारे पर चिपकाया गया है। यह पोस्‍टर किसने लगाया है, यह पता नहीं चल पाया है।

इस पोस्टर के ऊपर लिखा गया है, `देखिए बीजेपी का पर्दाफाश`। पोस्टरों में इसके बाद आडवाणी की चिट्ठी की वही सतरें (पंक्तियां) छापी गई हैं, जिसमें उन्होंने बीजेपी के नेताओं पर जाती मफदात (निजी हितों) के लिए काम करने का इलज़ाम लगाया है। रुठे आडवाणी को मनाने की कोशिश नाकाम होकर बीजेपी नेता खाली हाथ लौटे। पोस्टरों में लिखा है,…मगर पिछले कुछ समय से पार्टी जिस ढंग से चलाई जा रही है और यह जिसरस्ते पर जा रही है, उससे मैं सहज नहीं हो पा रहा हूं। मुझे नहीं लगता कि यह वही आदर्शवादी पार्टी है, जिसे श्यामा प्रसाद मुखर्जी, दीनदयाल उपाध्याय, नानाजी देशमुख और अटल बिहारी वाजपेयी जैसे लोगों ने बनाया, जिनकी फिक्र ये देश और इसके लोग रहे हैं। मौजूदा वक़्त में पार्टी के ज्यादातर नेता अपने ज़ाति एजेंडे को आगे बढ़ा रहे हैं।
लालकृष्ण आडवाणी

गौर हो कि लुटियंस जोन इलाके में मरकजी उज्र और अरकाने पार्लियामेंट के बंगले हैं। बता दें कि दिल्ली की चीफ मिनिस्टर शीला दीक्षित के घर के पास भी आडवाणी के इस्‍तीफे वाला एक पोस्टर लगाया गया है।

……….(एजंसी)

TOPPOPULARRECENT