Thursday , August 17 2017
Home / Delhi News / आतंकवाद से लड़ाई में पाकिस्तान पर भरोसा स्थिर, राजनाथ का दावा

आतंकवाद से लड़ाई में पाकिस्तान पर भरोसा स्थिर, राजनाथ का दावा

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि आतंकवाद से लड़ने के मुद्दे पर पाकिस्तान पर उनका भरोसा ” बालकलया स्थिर ” हो चुका है क्योंकि इससे भारत को जिस प्रकार का समर्थन समर्थन उम्मीद थी वैसा नहीं हो रहा है। मोदी सरकार के दो साल पूरा होने के मौके पर राजनाथ ने यह भी स्पष्ट कर दिया कि पठानकोट आतंकवादी हमले की जांच के लिए एनआईए टीम को पाकिस्तान आने की अनुमति न देना ” छल ‘के बराबर होगा।

समाचार चयानलों को साक्षात्कार देते हुए गृह मंत्री ने विभिन्न प्रकार मुद्दों और विषयों को कवर किया जिनमें उत्तर प्रदेश में 2017 के विधानसभा चुनाव और खतरनाक आतंकवादी संगठन आईएसआईएस खतरों शामिल हैं। उन्होंने कहा, ” मेरा भरोसा पूरी तरह स्थिर हो चुका है।

जिस तरह की मदद जो हमें उनके (पाकिस्तान) आतंकवाद के मुद्दे पर प्राप्त होना चाहिए, वैसा नहीं हो रहा है। मुझे यह कहने में कोई पशोपेश नहीं है। ” पठानकोट मामले में राजनाथ ने कहा कि दोनों देशों की ओर से ” अनौपचारिक रूप से ” यह आपसी सहमति हुई थी कि जब पाकिस्तान की संयुक्त इंटेलिजेंस टीम भारत का दौरा कर लेगी तो एनआईए टीम को भी (दौरे पाकिस्तान की) अनुमति दी जाएगी। ” हम आगे देख रहे हैं कि एनआईए टीम को पाकिस्तान के दौरे की अनुमति दी जाए।

” यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि पठानकोट आतंकवाद मामले के बारे में कोई कार्रवाई नहीं की गई। इस मामले से जुड़े दोषियों को सजा जरूर मिलनी चाहिए।” मुझे यह कहने में एड नहीं कि अगर हमारी एनआईए टीम दौरे पाकिस्तान की अनुमति नहीं मिलती है तो यह छल होगी। उन्हें अनुमति देना चाहिए। ” गृह मंत्री ने बताया कि इस मसले पर सचिव के स्तर पर भी विचार हुआ है और हमारे द्वारा भी यह कह दिया गया है कि अपनी टीम दौरा कर चुकी हमारी एनआईए टीम को पाकिस्तान जाना चाहिए।

देखना है कि पाकिस्तान द्वारा किया प्रतिक्रिया सामने आता है। इशरत जहां मामले की पिछली यूपीए सरकार और वर्तमान राजग शासन के दौरान की गई जांच में कथित ‘यू टर्न’ से संबंधित सवाल पर राजनाथ ने कहा कि इस मामले में आगे की जांच को तय करना अदालत पर निर्भर करता है। यूपी चुनाव के संबंध में गृह मंत्री ने कहा कि अगले साल के चुनाव राम मंदिर मुद्दे पर नहीं बल्कि विकास के विषय पर लड़े जाएंगे।

TOPPOPULARRECENT